Home /News /nation /

लोकसभा की कार्यवाही के बीच स्पीकर ओम बिड़ला को गुस्सा क्यों आया, कुर्सी छोड़कर उठे

लोकसभा की कार्यवाही के बीच स्पीकर ओम बिड़ला को गुस्सा क्यों आया, कुर्सी छोड़कर उठे

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला सदन की कार्यवाही के दौरान विपक्षी सांसदों के हंगामे पर नाराज हो गए.

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला सदन की कार्यवाही के दौरान विपक्षी सांसदों के हंगामे पर नाराज हो गए.

Om Birla angry reaction on Opposition MPs: विपक्षी सांसदों के हंगामे से नाराज स्पीकर ओम बिड़ला ने कहा-वरिष्ठ सदस्य बोल रहे हैं और आप लोग नारेबाजी कर रहे हैं. आप बाहर चर्चा करते हैं लेकिन जब सदन के अंदर सरकार जवाब देना चाहती है तो आप तैयार नहीं हैं. सरकार आपके हर सवाल का जवाब देने को तैयार है. लेकिन आप चर्चा के लिए तैयार नहीं हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. संसद के शीतकालीन सत्र (Parliament Winter Session) की शुरुआत से ही विपक्ष लगातार विरोध प्रदर्शन (Opposition Protest) कर रहा है. यही कारण है कि विपक्षी हंगामे के कारण सदन कार्यवाही बार-बार बाधित हो रही है. दरअसल 12 सांसदों के निलंबन के मसले पर हंगामा लगातार जारी है. इसी क्रम में बुधवार को प्रश्नकाल के दौरान विपक्षी दलों के तख्तियां लहराने और नारेबाजी से स्पीकर ओम बिड़ला (Lok Sabha Speaker Om Birla) नाराज हो गए. बिड़ला ने साफ शब्दों में कहा कि आप बाहर चर्चा करते हैं तो अंदर क्यों नहीं?

    स्पीकर ने कहा-वरिष्ठ सदस्य बोल रहे हैं और आप लोग नारेबाजी कर रहे हैं. आप बाहर चर्चा करते हैं लेकिन जब सदन के अंदर सरकार जवाब देना चाहती है तो आप तैयार नहीं हैं. सरकार आपके हर सवाल का जवाब देने को तैयार है. लेकिन आप चर्चा के लिए तैयार नहीं हैं.

    शून्यकाल के दौरान विभिन्न सदस्यों ने जनहित के अलग-अलग मुद्दे उठाए
    इससे पहले आज कांग्रेस नेता मनीष तिवारी और कुछ अन्य सदस्यों ने आंदोलनकारी किसानों की मांगों से जुड़ा मुद्दा बुधवार को लोकसभा में उठाया और कहा कि सरकार को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी देने समेत अन्य मांगें स्वीकार करनी चाहिए. सदन में शून्यकाल के दौरान विभिन्न सदस्यों ने जनहित के अलग-अलग मुद्दे उठाए. कांग्रेस के मणिकम टैगोर ने मांग उठाई कि कि कोराना वायरस महामारी में जान गंवाने वाले प्रत्येक व्यक्ति के परिवार को चार लाख रुपये का मुआवजा दिया जाए.

    ये भी पढ़ें: थकान-सिरदर्द के मरीजों से मिला संकेत, पढ़ें ओमिक्रॉन के पकड़ में आने की कहानी

    संगीता आजाद ने ‘यूपीटेट’ परीक्षा का पेपर लीक होने का मुद्दा उठाया
    भाजपा के मनोज कोटक ने पिछले दिनों महाराष्ट्र के अमरावती में हुई हिंसा का मुद्दा सदन में उठाया और दावा किया कि इस घटना में पुलिस की भूमिका संदिग्ध है. उन्होंने मांग की कि रजा अकादमी और पीएफआई जैसे संगठनों पर प्रतिबंध लगाया जाए, वहीं पुलिस और प्रशासन की भूमिका की भी जांच हो. बसपा की संगीता आजाद ने ‘यूपीटेट’ परीक्षा का पेपर लीक होने का मुद्दा उठाया और कहा कि इसकी उच्च स्तरीय जांच कराई जाए और आगे इस तरह से पेपर लीक होने से रोका जाए.

    आम आदमी पार्टी के भगवंत मान ने कहा कि पंजाब में सेना की भर्ती की लिखित परीक्षा कराई जाए.लतृणमूल कांग्रेस की महुआ मोइत्रा, भाजपा के रमेश बिधूड़ी, तीरथ सिंह रावत, रामकृपाल यादव, सुनीता दुग्गल एवं विजय कुमार दुबे और कुछ अन्य दलों के सदस्यों ने भी विभिन्न मुद्दे उठाए.

    Tags: Om Birla, Parliament Winter Session

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर