PM मोदी को लिखे विपक्ष के खत पर बरसे केंद्रीय मंत्री, कहा- आपकी नीति पहले शक करो फिर...

PM मोदी को लिखे विपक्ष के खत पर बरसे केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने दी प्रतिक्रिया.

PM मोदी को लिखे विपक्ष के खत पर बरसे केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने दी प्रतिक्रिया.

कांग्रेस (Congress) समेत 12 राजनीतिक दलों (Political Party) के नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) एक संयुक्‍त पत्र लिखा है और आरोप लगाया है कि समय रहते मोदी सरकार ने विपक्ष के सुझावों को माना होता तो आज देश में कोरोना के इतने खराब हालात न होते.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. देश में तेजी से बढ़ते कोरोना (Corona) संक्रमण के मामलों पर विपक्ष एकजुट होकर मोदी सरकार को घेरने में लगा हुआ है. कांग्रेस (Congress) समेत 12 राजनीतिक दलों (Political Party) के नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) एक संयुक्‍त पत्र लिखा है और आरोप लगाया है कि समय रहते मोदी सरकार ने विपक्ष के सुझावों को माना होता तो आज देश में कोरोना के इतने खराब हालात न होते. इसके साथ ही सरकार से मांग की है कि वैक्‍सीन का उत्‍पादन बढ़ाया जाए, जिससे ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को कोरोना वैक्‍सीन लगाई जा सके. विपक्ष के खत पर अब संसदीय मामलों के मंत्री प्रहलाद जोशी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि 'आपकी नीति है पहले शक करो फिर मांग करो'.

विपक्ष की ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे खत पर प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने कांग्रेस नेता जयराम रमेश के ट्वीट पर जवाब देते हुए कहा है, 'जयराम रमेश जी वरिष्ठ नेता हैं और उन्हें पता होना चाहिए कि टीके को लेकर उनकी पार्टी के नेताओं ने ही लोगों में डर पैदा किया और एक प्रोपेगैंडा चलाया. कई वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने कोरोना वैक्‍सीन को लेकर बयान दिए. उन्‍होंने कहा कि आपकी नीति है 'पहले शक करो, फिर मांग करो.'


बता दें कि कांग्रेस समेत 12 राजनीतिक दलों के नेताओं ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में कहा है कि सरकार बजट में निर्धारित किए गए 35 हजार करोड़ रुपये को तुरंत स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं में लगाए, जिससे इस महामारी से लोगों को बचाया जा सके. विपक्ष के नेताओं ने मांग की है कि सेंट्रल विस्‍टा प्रोजेक्‍ट को तुरंत रोका जाए और इसके लिए जितने रुपये का आबंटन किया गया है उसे ऑक्‍सीजन और वैक्‍सीन खरीदने पर खर्च किया जाए. इसके साथ ही पीएम केयर फंड के पैसे को भी ऑक्सीजन, दवा और मेडिकल उपकरण खरीदने में लगाने की मांग की गई है.


इसे भी पढ़ें :- कांग्रेस समेत 12 विपक्षी दलों ने PM को घेरा, कहा- विपक्ष का सुझाव मानते तो हालात न होते खराब

इन नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखा पत्र



पत्र लिखने वालों में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री और जेडीएस नेता देवेगौड़ा, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, शिवसेना नेता और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, टीएमसी सुप्रीमो और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, डीएमके नेता और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन, जेएमएम नेता और झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन, जेकेपीए नेता फारुख अब्दुल्ला, समाजवादी पार्टी के नेता और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, सीपीआई के नेता डी. राजा और सीपीआईएम नेता सीताराम येचुरी शामिल हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज