Home /News /nation /

बीजेपी के शासनकाल में नौकरियों में अल्पसंख्यकों की भागीदारी बढ़ी हैः नकवी

बीजेपी के शासनकाल में नौकरियों में अल्पसंख्यकों की भागीदारी बढ़ी हैः नकवी

मुख्तार अब्बास नकवी (फाइल फोटो)

मुख्तार अब्बास नकवी (फाइल फोटो)

नकवी ने कहा कि जब हम 2014 में सरकार में आए थे तब नौकरियों में अल्पसंख्यकों की भागीदारी 4.8 प्रतिशत थी जो पिछले चार सालों में बढ़कर 10 फीसदी हो गई है.

    अल्पसंख्यकों खासकर मुसलमानों के विकास को लेकर कांग्रेस, एआईएमआईएम के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंगलवार को कहा कि मोदी सरकार के विकास की अवधारणा सबको साथ लेकर चलने वाली है, साम्प्रदायिक नहीं.

    कांग्रेस पर निशाना साधते हुए अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के फ्रीलांसरों को अपनी जानकारी ठीक कर लेनी चाहिए. जब हम 2014 में सरकार में आए थे तब नौकरियों में अल्पसंख्यकों की भागीदारी 4.8 प्रतिशत थी जो पिछले चार सालों में बढ़कर 10 फीसदी हो गई है.उन्होंने दावा किया कि केंद्र सरकार विकास के मामले में जाति, धर्म, पंथ के आधार पर भेदभाव नहीं करती है.

    ये भी पढेंः नकवी ने दिया मुस्लिम महिलाओं को इफ्तार, बोले- राहुल गांधी की इफ्तार ‘पॉलिटिकल इंजीनियरिंग

    नकवी ने कहा, ‘‘हमारी सरकार के विकास कार्यक्रम में सबसे अधिक ज़ोर गरीब, कमजोर और पिछड़े वर्गो के साथ ऐसे लोगों पर है जिनपर विकास की रोशनी नहीं पहुंची है.’’ उन्होंने कहा कि पिछले चार सालों में इन तबकों तक बिना भेदभाव के विकास का लाभ पहुंचा है और विश्वास का माहौल बना है.

    सेना में मुसलमानों के कम प्रतिनिधित्व के बारे में ओवैसी के कथित बयान के बारे में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जो लोग फौज में मुसलमानों की संख्या के बारे में पूछ रहे हैं, ऐसे अज्ञानियों को समझ लेना चाहिए कि फौज में भारत मां के सपूत होते हैं, और वे किसी धर्म और जाति के नहीं होते . फौज को भी साम्प्रदायिक रंग देना विकृत मानसिकता का परिचायक है.

    ये भी पढेंः जम्मू-कश्मीर में केंद्र ने सही फैसला लिया : मुख्तार अब्बास नकवी

    मुस्लिम लड़कियों के बारे में उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार में स्कूल के स्तर पर मुस्लिम लड़कियों के पढ़ाई छोड़ने (स्कूल ड्रापआउट) की दर 70 प्रतिशत से घटकर 40 प्रतिशत तक पहुंच गई है. नकवी ने कहा कि केंद्र सरकार ‘मदरसों पर ताला’ नहीं बल्कि ‘तालीम की माला’ चाहती है .

    कांग्रेस की मुस्लिम पार्टी होने के बारे में राहुल की कथित टिप्पणी संबंधी रिपोर्ट का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि यह तो स्पष्ट हो गया है कि कांग्रेस अब जनता की पार्टी नहीं रह गई है. ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस को कभी मुसलमानों की पार्टी, कभी हिन्दुओं की पार्टी और कभी ईसाइयों की पार्टी बता रहे हैं. उन्होंने कहा कि राहुल पहले यह तय कर लें कि कांग्रेस किसकी पार्टी है.

    Tags: Mukhtar abbas naqvi, Narendra modi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर