चलती ट्रेन में पता चला कोरोना संक्रमित है यात्री, उतारकर भेजा अस्पताल

चलती ट्रेन में पता चला कोरोना संक्रमित है यात्री, उतारकर भेजा अस्पताल
प्रतीकात्मक तस्वीर

अधिकारियों ने बताया कि व्यक्ति को चिकित्सा अधिकारियों का फोन आने के बाद पता चला कि वह कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2020, 8:54 AM IST
  • Share this:
कोच्चि. केरल (Kerala )स्थित कोझिकोड (Kozhikod) जाने वाली ट्रेन में सवार 29 वर्षीय एक यात्री के कोरोना पॉजिटिव पाए संक्रमण की पुष्टि होने के बाद शुक्रवार को ट्रेन से उतारकर सरकारी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया. रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि कोझिकोड-तिरुवनंतपुरम जन शताब्दी एक्सप्रेस के जिस डिब्बे में वह यात्री यात्रा कर रहा था उसके 20 से अधिक यात्रियों को एर्नाकुलम उत्तर रेलवे स्टेशन पहुंचने के बाद दूसरे डिब्बे में भेजने के बाद डिब्बे को विषाणुमुक्त किया गया और फिर सील कर दिया गया.

अधिकारियों ने बताया कि कोझीकोड से ट्रेन में सवार हुए व्यक्ति को कोझीकोड के चिकित्सा अधिकारियों का फोन आने के बाद पता चला कि वह कोविड-19 से संक्रमित है. व्यक्ति द्वारा तिरूवनंतपुरम जा रही जन शताब्दी एक्सप्रेस के त्रिचूर पहुंच जाने की जानकारी दिए जाने के बाद कोझीकोड जिला चिकित्सा अधिकारियों ने तुरंत अपने समकक्षों और रेलवे अधिकारियों को सूचित किया.

डिब्बे में रोगी के संपर्क में आने वाले व्यक्तियों को घर में ही पृथक-वास में रहने का निर्देश दिया गया है. उत्तर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के पहुंचने के बाद मरीज को सरकारी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल ले जाया गया.



 एक गांव कोविड-19 का ‘हॉटस्पॉट’ बना,  करीब 200 मामले सामने आये
दूसरी ओर राज्य के वायनाड जिले में स्थित एक गांव कोरोना वायरस के एक प्रमुख ‘हॉटस्पॉट’ (संक्रमण से अधिक प्रभावित क्षेत्र) के तौर पर उभरा है जहां अभी तक कुल 199 व्यक्ति संक्रमित पाये गए हैं. इस गांव में पहले दो परिवारों के आठ सदस्य संक्रमित कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे.

अधिकारियों ने बताया कि तविनहल पंचायत के वलाड वार्ड में 169 व्यक्ति बृहस्पतिवार तक संक्रमित पाये गए थे और शुक्रवार को 30 और व्यक्ति संक्रमित मिले जिससे वहां संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 199 हो गई. प्रशासन ने इस सप्ताह की शुरुआत से संक्रमितों के सम्पर्क में आये लोगों की पहचान करने के लिए एक व्यापक स्क्रीनिंग शुरू की थी. स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया, ‘पंचायत को सोमवार से एक निषिद्ध क्षेत्र बना दिया गया है और हमें उम्मीद है कि इससे संक्रमण को और फैलने से रोकने में मदद मिलेगी.’

वायनाड जिले में कोविड-19 के अब तक कुल 310 मामले
वायनाड जिले में कोविड-19 के अब तक कुल 310 मामले सामने आये हैं और 2,753 लोग निगरानी में हैं. इसकी शुरूआत उन दो परिवारों के सात सदस्यों के संक्रमित होने से हुई जिनका आपस में संबंध था. इन परिवारों के सदस्य पिछले सप्ताह एक रिश्तेदार के अंतिम संस्कार में शामिल हुए थे जिसकी कोविड-19 संक्रमण से कोझीकोड मेडिकल कालेज अस्पताल में हाल में मौत हो गई थी.

इसके साथ एक अन्य परिवारिक सदस्य जो गत सप्ताह एक विवाह में शामिल हुआ था, वह भी संक्रमित पाया गया. इससे वलाड में संक्रमितों की संख्या बढ़कर आठ हो गई. इसके बाद स्वास्थ्य अधिकारियों ने इनके सम्पर्क में आये व्यक्तियों का पता लगाने के लिए क्षेत्र में रैपिड एंटीजेन जांच शुरू की और मंगलवार और बुधवार को 83 संक्रमित पाये गए. शुक्रवार को राज्य में सामने आये कोविड-19 के 1,310 नये मामलों में से 124 मामले वायनाड में सामने आये. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading