• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • PATANJALI SAYS RECEIVED LEGAL NOTICE FROM IMA WILL GIVE BEFITTING REPLY

पतंजलि को मिला IMA का नोटिस, आचार्य बालकृष्ण बोले-‘करारा जवाब’ देंगे

हरिद्वार स्थित पतंजलि योगपीठ ने यह भी कहा कि पतंजलि सारी गतिविधियां वैज्ञानिक और सत्यता को ध्यान में रखकर करता है.

baba ramdev and ima news: पतंजलि को IMA का मानहानि का नोटिस मिल गया है. आईएमए ने बाबा रामेदव से 15 दिन के अंदर उनसे माफी मांगने को कहा है.

  • Share this:
    नयी दिल्ली. पतंजलि योगपीठ ने गुरुवार को पुष्टि की कि एलोपैथी चिकित्सा पद्धति पर टिप्पणी के संबंध में योग गुरु रामदेव (Ramdev) से माफी की मांग को लेकर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) की ओर से उसे एक मानहानि नोटिस मिला है. योगपीठ ने कहा कि वह कानूनी तरीके से इसका ‘करारा जवाब’ देगी.

    एक ई-मेल के जवाब में पतंजलि योगपीठ के महासचिव आचार्य बालकृष्ण (Acharya Balkrishna) ने इसकी पुष्टि की और कहा, ‘हम उन्हें उसी कानूनी रूप से करारा जवाब देंगे, जैसा कि हम अपनी महान मातृभूमि और मानवता की सेवा करते हुए जिस तरह से सब कुछ करते हैं.’

    हरिद्वार स्थित पतंजलि योगपीठ ने यह भी कहा कि पतंजलि सारी गतिविधियां वैज्ञानिक और सत्यता को ध्यान में रखकर करता है और वह किसी को भी ऋषियों और शास्त्रों के महान ज्ञान और विज्ञान की उपेक्षा, अनादर और अपमान नहीं करने दे सकता. IMA ने बुधवार को एलोपैथी और एलोपैथी पद्धति के डॉक्टरों के कथित अपमान वाली टिप्पणी के लिए रामदेव को छह पन्ने का मानहानि नोटिस भेजकर 15 दिन के अंदर उनसे माफी मांगने और ऐसा नहीं करने पर एसोसिएशन ने योग गुरु से हर्जाने के तौर पर 1,000 करोड़ रुपये मांगने की बात कही थी.

    रामदेव पर डॉक्टरों की साख को खराब करने का आरोप
    IMA (उत्तराखंड) के सचिव अजय खन्ना द्वारा अपने वकील नीरज पांडे की ओर से भेजे गए नोटिस में रामदेव की टिप्पणी को लेकर उन पर एलोपैथी और इसके डॉक्टरों की साख को खराब करने का आरोप लगाया गया.

    ये भी पढ़ेंः- जून के दूसरे हफ्ते से अपोलो अस्पतालों में मिलने लगेगी रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-V

    आईएमए ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी एक पत्र लिखकर टीकाकरण और कोविड-19 के उपचार के लिए सरकारी प्रोटोकॉल को चुनौती देने पर योग गुरु के खिलाफ राजद्रोह के आरोपों के तहत तत्काल मामला दर्ज करने का अनुरोध किया है.
    Published by:Ashu
    First published: