Assembly Banner 2021

NCP में शामिल होंगे पीसी चाको, गुटबाजी का आरोप लगाकर कांग्रेस से दिया था इस्तीफा

पीसी चाको ने कांग्रेस पार्टी से दिया इस्तीफा.

पीसी चाको ने कांग्रेस पार्टी से दिया इस्तीफा.

कांग्रेस के नेता रहे पीसी चाको (PC Chacko) अब नेश्नलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP) में शामिल होंगे. पिछले साल हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव के समय चाको कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2021, 12:59 PM IST
  • Share this:
तिरुवनंतपुरम. केरल कांग्रेस के नेता रहे पीसी चाको (PC Chacko) अब नेश्नलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP) में शामिल होंगे. हालांकि नई पार्टी में उनकी क्या जिम्मेदारी होगी इस पर अब तक कोई जानकारी सामने नहीं आई है.  बता दें केरल में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले बुधवार को कांग्रेस को उस वक्त बड़ा झटका लगा जब उसके वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने पार्टी छोड़ने की घोषणा की और आरोप लगाया कि चुनाव के लिए पार्टी के उम्मीदवार तय करने में गुटबाजी हावी रही. पिछले एक साल के भीतर ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद चाको ऐसे दूसरे वरिष्ठ नेता हैं जिन्होंने पार्टी छोड़ी है. चाको कांग्रेस कार्य समिति के सदस्य रहे हैं.

चाको ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया है. चाको ने यह भी बताया कि वह पार्टी छोड़ने के बारे में कई दिनों से विचार कर रहे थे. उन्होंने दावा किया था, ‘कांग्रेस में कोई लोकतंत्र नहीं बचा है. उम्मीदवारों की सूची के बारे में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के साथ कोई चर्चा नहीं की गई.’

उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि केरल में छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के उम्मीदवारों का चयन दो समूहों ने अलोकतांत्रिक तरीके से किया. इसमें एक ‘ए’ समूह का नेतृत्व ओमन चांडी और ‘आई’ समूह का नेतृत्व रमेश चेन्नीथला कर रहे हैं. चाको ने कहा कि दोनों समूह दिवंगत नेता के करुणाकरन और वरिष्ठ नेता एके एंटनी के समय से ही सक्रिय हैं. ‘ए’ समूह का नेतृत्व एंटनी करते थे और ‘आई’ समूह का नेतृत्व करुणाकरन करते थे.



दिल्ली विधानसभा चुनाव के समय चाको कांग्रेस के प्रभारी थे
कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने उन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि दिल्ली में प्रभारी रहते हुए गुटबाजी को बढ़ावा देने वाले व्यक्ति ने पार्टी से जाने में बहुत देर कर दी. उन्होंने चाको के बयान को लेकर ट्वीट किया, ‘यह बात वह व्यक्ति कहता है जिसने दिल्ली में गुटबाजी को सक्रियता के साथ प्रोत्साहित किया और बढ़ावा दिया. बहुत देर कर दी हुजूर जाते जाते.’

पिछले साल हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव के समय चाको कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी थे. उस चुनाव में कांग्रेस का खाता भी नहीं खुल सका था और ज्यादातर सीटों पर पार्टी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई. इस चुनाव के बाद ही चाको ने प्रभारी पद से इस्तीफा दे दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज