अपना शहर चुनें

States

पीपल बाबा ने मनाया पर्यावरण पखवाड़ा, कहा- देश को हरियाली क्रांति की जरूरत

पर्यावरण के पखवाड़े के समापन के मौके पर पीपल बाबा ने कहा, पर्यावरण पखवाड़े का उद्देश्य देश के 40 फीसदी भूभाग पर पेड़ लगाना उनके ट्रस्ट का उद्देश्य है.
पर्यावरण के पखवाड़े के समापन के मौके पर पीपल बाबा ने कहा, पर्यावरण पखवाड़े का उद्देश्य देश के 40 फीसदी भूभाग पर पेड़ लगाना उनके ट्रस्ट का उद्देश्य है.

पर्यावरण के पखवाड़े के समापन के मौके पर पीपल बाबा ने कहा, पर्यावरण पखवाड़े का उद्देश्य देश के 40 फीसदी भूभाग पर पेड़ लगाना उनके ट्रस्ट का उद्देश्य है.

  • Share this:
जानेमाने पर्यावरणकर्मी प्रेम परिवर्तन यानी पीपल बाबा ने इस बार पर्यावरण दिवस के बजाए पर्यावरण पखवड़ा मनाया है. इस दौरान उन्होंने दिल्ली एनसीआर में जमकर पेड़ लगवाए. इसमें रेडियो और टीवी जगत का जानामाना नाम ऋचा अनिरुद्ध और लखनऊ की मेयर सयुंक्ता भाटिया भी शामिल हुईं.

अहम बात ये रही कि कोरोना काल में पीपल बाबा के Give Me Trees ट्रस्ट से जुड़े हुए स्वयंसेवकों ने सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो करते हुए पर्यावरण पखवाड़े के दौरान 19 हजार से ज्यादा (नोएडा के सेक्टर 115 में 6,000, हरिद्वार में 5,500, नोएडा के सेक्टर 50 में 5000 और लखनऊ में 2500) पेड़ लगाये. इसमें लखनऊ में पर्यावरण पखवाड़े के पहले हफ्ते में लखनऊ की मेयर संयुक्ता भाटिया और दिल्ली में ऋचा अनिरुद्ध ने भी हिस्सा लिया.

पर्यावरण के पखवाड़े के समापन के मौके पर पीपल बाबा ने कहा, पर्यावरण पखवाड़े का उद्देश्य देश के 40 फीसदी भूभाग पर पेड़ लगाना ही इस ट्रस्ट का उद्देश्य है. इसके लिए मैं देश के नागरिकों और देश की सरकार से चार अपील करना चाहता हूं. दरअसल, देश में श्वेत क्रांति, हरित क्रांति के तर्ज पर हरियाली क्रांति की जरूरत आन पड़ी है. क्योंकि हम सभी आज पर्यावरण को पहुंचाए गए नुकसान की ही भरपाई करोना के रूप में कर रहे हैं. इसलिए मेरी चार अपील को अमल में लाएं. पहली मौलिक कर्तव्यों उपबंध नंबर 7 में पर्यावरण सुरक्षा व संवर्धन के साथ-साथ एक अनिवार्य विंदु जोड़ा जाय जिसके तहत देश के हर नागरिक हर साल कम से कम 1 पेड़ जरूर लगाएं और उसकी देखभाल करें यह सुनिश्चित किया जाए. दूसरी सिटीजन एनवायरनमेंट रेस्पोंसिबिलिटी – CER को नागरिक के लिए अनिवार्य कर्तव्य घोषित किये जाए, बंजर जमीनों में पेड़ लगाकर हरा भरा करना और स्वच्छ भारत अभियान में स्वच्छ पर्यावरण की हिस्सेदारी हो. इसके मैं पीएम मोदी से अपील करता हूं कि वो देश की जनता को इसके अपने स्वच्छता मिशन में स्वच्छ पर्यावरण मिशन के तहत लोगों से पर्यावरण को बचाने की शपथ लें.



इसके अलावा पीपल बाबा ने एक आह्वान किया कि हर व्यक्ति हर को अपने जीवन काल में अपनी उम्र से एक ज्यादा पेड़ लगाना चाहिए. मसलन किसी की उम्र 30 साल हो तो उसे अपने 30वें साल को खत्म करने से पहले ही 31 पेड़ लगा लेने का आंकड़ा सुनिश्चित कर देना चाहिए.


इसी के तहत पीपल बाबा से जुड़कर 31 मई को ऋचा अनिरुद्ध उम्र से 1 ज्यादा पेड़ लगाकर इसका योजना को सफलता की ओर अग्रसर किया. बता दें की पीपल बाबा ने देश के 18 राज्यों के 202 जिलों में 14.5 हजार स्वयंसेवकों की मदद से 2 करोड़ से ज्यादा पेड़ लगा चुके हैं. जिन्होंने पिछले लगातार 43 सालों से घटते पेड़ों को बढ़ाने के लिए मुह‌िम छेड़ रखी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज