• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • सपा सांसद रामगोपाल यादव ने कहा, पेगासस जासूसी मामले में बहस से भाग रही है सरकार

सपा सांसद रामगोपाल यादव ने कहा, पेगासस जासूसी मामले में बहस से भाग रही है सरकार

रामगोपाल यादव ने पेगासस जासूसी मामले में केंद्र पर निशाना साधा. (फाइल फोटो)

रामगोपाल यादव ने पेगासस जासूसी मामले में केंद्र पर निशाना साधा. (फाइल फोटो)

Pegasus Spy Case: जासूसी मामले के कारण संसद का मानसून सत्र सुचारू तौर पर नहीं चल रहा है. विपक्षी पार्टियां इस मुद्दे पर सदन में बहस करवाना चाहती है.

  • Share this:

नई दिल्ली. समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद रामगोपाल यादव ने जासूसी मामले में सरकार से बहस की मांग की है. रामगोपाल यादव का कहना है कि संसद में सदन इसलिए नहीं चल पा रहा है क्योंकि सरकार बहस नहीं करना चाह रही है. न्यूज़18 के साथ बातचीत में रामगोपाल यादव ने कहा कि विपक्ष इस मुद्दे पर सरकार को 4 घंटे की बहस की मांग कर रहा है. उनका कहना है कि इस बहस के बाद संसद सुचारू तौर पर चलेगी, लेकिन सरकार इस बहस से भाग रही है.


स्टेटमेंट और डिस्कशन में होता है अंतर
जासूसी मामले में सरकार के मंत्री द्वारा  सदन में बयान दिए जाने के तर्क को नकारते हुए सपा सांसद रामगोपाल यादव ने कहा कि डिस्कशन और स्टेटमेंट में अंतर होता है. रामगोपाल यादव का कहना है कि स्टेटमेंट के बाद एक सवाल का जवाब दे करके सरकार मामले को खत्म कर देना चाहती है, जबकि विपक्ष की मांग है कि इस मुद्दे पर सार्थक चर्चा हो. राम गोपाल यादव इस मुद्दे पर राज्यसभा में 4 घंटे की बहस की मांग की.


सरकार की कथनी और करनी में अंतर
समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ सांसद रामगोपाल यादव ने सरकार की कथनी और करनी में अंतर का आरोप लगाया. संसद के मानसून सत्र के पहले पीएम के सभी मुद्दे पर सार्थक चर्चा की सर्वदलीय बैठक में बात कहने के सवाल के जवाब में रामगोपाल यादव का कहना है कि पीएम मोदी सार्थक बहस की बात तो करते हैं, लेकिन सदन में बहस नहीं करवाना चाहते. रामगोपाल यादव का आरोप है कि इस सरकार की कथनी और करनी में अंतर है.




गौरतलब है कि जासूसी मामले के कारण संसद का मानसून सत्र सुचारू तौर पर नहीं चल रहा है. विपक्षी पार्टियां इस मुद्दे पर सदन में बहस करवाना चाहती है. वहीं संसद के मानसून सत्र के ठीक पहले इस तरह के मामले सामने आने को लेकर के सरकार के कई मंत्री सवाल उठा चुके हैं. उनका कहना है कि आखिरकार मानसून सत्र के पहले इस तरह के मुद्दे क्यों आए. साथ ही सरकार ने इस मामले की सत्यता पर भी सवाल खड़े किए हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज