Home /News /nation /

pegasus spyware ysrcp seeks probe into mamata banerjee allegation against chandrababu naidu

क्या चंद्रबाबू नायडू ने खरीदा था जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस? ममता के आरोपों के बाद YSR कांग्रेस ने उठाई जांच की मांग

ममता ने दावा किया था कि चंद्रबाबू नायडू के कार्यकाल के दौरान आंध्र प्रदेश सरकार ने ये स्पाईवेयर खरीदा था. (फ़ाइल फोटो)

ममता ने दावा किया था कि चंद्रबाबू नायडू के कार्यकाल के दौरान आंध्र प्रदेश सरकार ने ये स्पाईवेयर खरीदा था. (फ़ाइल फोटो)

Pegasus Spyware: YSRCP के प्रवक्ता और विधायक गुडिवाड़ा अमरनाथ ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू ने अपने कार्यकाल के दौरान पेगासस स्पाईवेयर का इस्तेमाल किया था. उन्होंने इन आरोपों को लेकर केंद्र सरकार से जांच की मांग की. उधर तेलुगू देशम पार्टी ने इस दावे का खंडन किया और कहा कि चंद्रबाबू नायडू सरकार ने ऐसी कोई खरीद नहीं की थी.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. ऐसा लग रहा है कि जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस (Pegasus Spyware) का मुद्दा अब केंद्र से राज्य सरकारों तक पहुंच गया है. इस मुद्दे पर आंध्र प्रदेश में तेलुगू देशम पार्टी (TDP) और वाई एस आर कांग्रेस (YSRCP) ने एक-दूसरे पर हमला बोला हैं. YSRCP ने पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू (Chandrababu Naidu) के खिलाफ जांच की मांग की है. दरअसल पिछले दिनों पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने दावा किया था कि चंद्रबाबू नायडू के कार्यकाल के दौरान आंध्र प्रदेश सरकार ने ये स्पाईवेयर खरीदा था. बता दें कि नायडू साल 2014 से 2019 तक आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री थे.

YSRCP के प्रवक्ता और विधायक गुडिवाड़ा अमरनाथ ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू ने अपने कार्यकाल के दौरान पेगासस स्पाईवेयर का इस्तेमाल किया था. उन्होंने इन आरोपों को लेकर केंद्र सरकार से जांच की मांग की. साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि नायडू के सीएम रहते हुए वाई एस आर कांग्रेस से जुड़े कॉल्स और डेटा के साथ भी छेड़छाड़ की गई थी.

‘पूरे मामले की जांच हो’
अमरनाथ ने कहा, ‘अगर चंद्रबाबू नायडू ने स्पाइवेयर खरीदा है, तो केंद्र और राज्य सरकारों को जांच करनी चाहिए कि क्या सॉफ्टवेयर राजनेताओं या उद्योगपतियों के लिए खरीदा गया था. ये कोई मामूली बात नहीं है, हम इस मामले की पूरी जांच की मांग करते हैं. इस सॉफ़्टवेयर का इस्तेमाल करना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है. लोगों की बातचीत को सुनना और उन पर नज़र रखना अक्षम्य अपराध है.’

क्या कहा था ममता बनर्जी ने?
बता दें कि बंगाल की मुख्यमंत्री ने बुधवार को विधानसभा में खुलासा किया था कि उनकी सरकार को पेगासस स्पाईवेयर की पेशकश की गई थी, जिसे उन्होंने अस्वीकार कर दिया था क्योंकि इससे लोगों की निजता प्रभावित होती. इस दौरान उन्होंने दावा किया था कि चंद्रबाबू नायडू के कार्यकाल के दौरान आंध्र प्रदेश सरकार ने ये स्पाईवेयर खरीदा था.

TDP ने इस दावे का किया खंडन
तेलुगू देशम पार्टी ने इस दावे का खंडन किया और कहा कि चंद्रबाबू नायडू सरकार ने ऐसी कोई खरीद नहीं की थी. तेलुगु देशम पार्टी के महासचिव एन. लोकेश ने कहा, ‘हमने कभी भी कोई स्पाईवेयर नहीं खरीदा. हम कभी भी किसी भी अवैध फोन टैपिंग मामले में शामिल नहीं रहे. हां, पेगासस ने आंध्र प्रदेश सरकार को भी अपना स्पाईवेयर बेचने की पेशकश की थी, लेकिन हमने उसे खारिज कर दिया था.’

Tags: Chandrababu Naidu, Mamta Banarjee, Pegasus

अगली ख़बर