कश्मीर में पैलेट गन से युवक की मौत का दावा, आर्मी ने किया इनकार

News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 5:54 PM IST
कश्मीर में पैलेट गन से युवक की मौत का दावा, आर्मी ने किया इनकार
कश्मीर के कुछ इलाकों में तनाव

असरार अहमद खान नाम का यह शख्स सौरा में छह अगस्त को हुए प्रदर्शन में पैलेट गन (Pallet Gun) से घायल हो गया था. कश्मीर (Kashmir) घाटी में आर्टिकल 370 (Article 370) हटाये जाने के बाद किसी आम नागरिक की ये पहली मौत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2019, 5:54 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. प्रदर्शन के दौरान पिछले महीने कथित तौर पर पैलेट गन (Pellet Gun) से घायल हुए कश्मीरी युवक ने बुधवार सुबह दम तोड़ दिया. घाटी में आर्टिकल 370 (Article 370) हटाये जाने के बाद किसी आम नागरिक की ये पहली मौत है. इसके बाद अधिकारियों ने पुराने श्रीनगर में फिर से प्रतिबंध लगा दिए.

असरार अहमद खान नाम का यह शख्स सौरा में छह अगस्त को हुए प्रदर्शन में कथित तौर पर पैलेट गन से घायल हो गया था. दावा किया गया था कि इससे उसकी आंखों पर चोटें आईं थी. अधिकारियों ने बताया कि खान को सौरा के 'शेर-ए-कश्मीर इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज' में भर्ती कराया गया था. उसकी बुधवार सुबह मौत हो गई. पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने स्पष्ट किया है कि, 'उसे कोई गोली नहीं लगी थी.'

उधर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्‍लन ने कहा है कि लड़के की मौत पत्थरबाजी में हुई थी न कि पैलेट गन इसकी वजह है. उन्‍होंने कहा, ये मौतें इसलिए हुईं, क्‍योंकि घाटी में आतंकी पत्‍थर फेंक रहे हैं और ये सभी पाकिस्‍तान के हाथों की कठपुतली बने हुए हैं.''

जम्मू-कश्मीर से पांच अगस्त को विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के अगले ही दिन यह प्रदर्शन किया गया था
जम्मू-कश्मीर से पांच अगस्त को विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के अगले ही दिन यह प्रदर्शन किया गया था


पिछले दिनों इंडियन एक्सप्रेस ने अधिकारिक सूत्रों का हवाला देते हुए बताया था कि घाटी में पैलेट गन से 80 आम नागरिक घायल हुए हैं. 14 अगस्त को पुलिस ने बताया था कि प्रदर्शन के दौरान कई लोगों को पैलेट गन ने चोटें आईं थी. एडिशनल डायरेक्टर जनरल मुनीर खान ने कहा था कि घाटी में कानून व्यवस्था नियंत्रण में है.

बता दें कि 5 अगस्त को भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर राज्य से विशेष राज्य का दर्जा आर्टिकल 370 को हटाकर खत्म कर दिया था. इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों  में बांट दिया था. इनमें से एक केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर बना था और दूसरा लद्दाख.

ये भी पढ़ें:
Loading...

राजस्थान हाईकोर्ट का फैसला-पूर्व मुख्यमंत्रियों को नहीं मिलेंगी आजीवन सुविधाएं

शिवसेना का BJP सरकार पर तंज, बेरोजगार सड़कों पर आएंगे तो उन्हें भी गोली मारोगे?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 12:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...