लाइव टीवी
Elec-widget

कर्नाटक उपचुनाव में बीजेपी के टिकट पर उतरे अयोग्‍य विधायकों को देना पड़ रहा है लोगों के तीखे सवालों का जवाब

News18Hindi
Updated: November 29, 2019, 4:31 PM IST
कर्नाटक उपचुनाव में बीजेपी के टिकट पर उतरे अयोग्‍य विधायकों को देना पड़ रहा है लोगों के तीखे सवालों का जवाब
कर्नाटक उपचुनाव में बीजेपी के टिकट पर मैदान में उतरे अयोग्‍य विधायकों को लोगों के मुश्किल सवालों का सामना करना पड़ रहा है.

कर्नाटक (Karnataka) में अयोग्‍य ठहराए गए विधायक (Disqualified MLAs) उपचुनाव में बीजेपी (BJP) के टिकट पर मैदान में हैं. जब ये नेता प्रचार (Campaign) के लिए पहुंच रहे हैं तो लोग उनसे पार्टी बदलने से लेकर बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद (Flood Relief Work) को लेकर सवालों की बौछार कर रहे हैं. कुछ नेता जहां लोगों के सवालों का सामना कर रहे हैं. वहीं, कुछ हताश हो रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 29, 2019, 4:31 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. कर्नाटक के अयोग्‍य ठहराए जा चुके विधायक (Disqualified MLAs) अब बीजेपी के टिकट पर उपचुनाव लड़ रहे हैं. इन विधायकों को प्रचार (Campaign) के लिए जनता के बीच जाने पर तीखे सवालों का सामना करना पड़ रहा है. प्रत्‍याशियों को लोगों के घेरने और सवालों की बौछार करने की घटनाओं के वीडियो सामने आ रहे हैं. जहां कुछ प्रत्‍याशी लोगों के सवालों का सामना कर उन्‍हें संतोषजनक जवाब देने की कोशिश कर रहे हैं. वहीं, कुछ हताशा से भर जा रहे हैं. सबसे ज्‍यादा मुश्किल का सामना उत्‍तरी कर्नाटक में बाढ़ प्रभावितों (Flood Victims) के बीच जाने वाले प्रत्‍याशियों को करना पड़ रहा है. एएच विश्‍वनाथ, शिवराम हेबर और केसी नारायण गौड़ा के वीडियो सामने आ चुके हैं, जिनमें लोग उनके कांग्रेस-जेडीएस (Congress-JDS) से अलग होने के कारणों से जुड़े सवाल पूछते हुए दिख रहे हैं.

लोग पूछ रहे, साल भर के भीतर आपको ही क्‍यों दें वोट
एक वीडियो में शिवराम हेबर से अज्‍जरानी गांव के लोग पूछ रहे हैं, 'क्‍या आपको याद है कि एक साल पहले जब आप कांग्रेस में थे तो आपने बीजेपी (BJP) के बारे में क्‍या कहा था? आपको अपनी बात पर अडिग रहना चाहिए.' जहां एक तरफ प्रत्‍याशी ग्रामीणों को शांत करने की कोशिश कर रहे हैं, वहीं उनके समर्थक सवाल पूछने वालों पर चिल्‍लाते हुए नजर आ रहे हैं. 'द हिंदू' की रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसे ही एक वीडियो में एएच विश्‍वनाथ को घेरे शरवनहल्‍ली गांव के लोग पूछ रहे हैं कि वे फिर उन्‍हें ही क्‍यों वोट दें, जबकि पिछले साल जेडीएस के टिकट पर जीतने के बाद उन्‍होंने एक बार भी पलटकर नहीं देखा? एक साल में ऐसा क्‍या बदल गया कि आपको वोट दिया जाए? यहां हालात को काबू करने के लिए पुलिस को हस्‍तक्षेप करना पड़ा.

पुलिस सुरक्षा लेकर प्रचार करने जा रहे हैं केसी नारायण

केसी नारायण गौड़ा को नामांकन के दिन जेडीएस कार्यकर्ताओं के गुस्‍से और विरोध का सामना करना पड़ा था. अब वह पुलिस सुरक्षा में प्रचार कर रहे हैं. इसके बाद भी कम से कम तीन बार ग्रामीण उनके साथ धक्‍कामुक्‍की कर चुके हैं. कई बार लोगों ने कर्नाटक से इस्‍तीफा देने बाद उनके मुंबई में ठहरने को लेकर भी जमकर खिंचाई की. कर्नाटक कांग्रेस ने इन वीडियोज को सोशल मीडिया पर शेयर किया है. कांग्रेस ने लिखा है कि लोग सत्‍ता के लिए जमीर बेचने वाले लोगों को खारिज कर रहे हैं. अब लोगों को बेवकूफ नहीं बनाया जा सकता है. वहीं, बीजेपी नेताओं का कहना है कि ये छिटपुट घटनाएं हैं और पार्टी इनको लेकर चिंतित नहीं है. प्रदेश बीजेपी महासचिव रवि कुमार ने दावा किया है कि इन घटनाओं में ज्‍यादातर कांग्रेस या जेडीएस कार्यकर्ता शामिल थे.

बीजेपी का आरोप, कांग्रेस करा रही प्रत्‍याशियों का विरोध
बेलगावी जिले में प्रचार के लिए जा रहे प्रत्‍याशियों को बाढ़ राहत कार्य से जुड़े सवालों के कारण मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. झुंगरवाड़ गांव में गुस्‍साए लोगों ने बीजेपी के जिला पंचायत सदस्‍य एस. मुदकन्‍नवर को एक कमरे में बंद कर दिया था. लोगों का आरोप था कि जिले में राहत कार्य बहुत धीमी रफ्तार से चल रहा है. कुछ घंटों बाद पुलिस ने उन्‍हें वहां से निकाला. हाल में बाढ़ प्रभावितों के बीच गए उपमुख्‍यमंत्री लक्ष्‍मण सावदी और अठानी से बीजेपी प्रत्‍याशी महेश कुमथल्‍ली को भी लोगों के मुश्किल सवालों का सामना करना पड़ा था. ग्रामीणों का आरोप था कि बाढ़ प्रभावितों का सर्वेक्षण गलत तरीके से किया गया था. बाढ़ के कारण उनके घर तबाह हो गए, लेकिन उन्‍हें मुआवजा नहीं मिला. महिलाओं ने आरोप लगाया कि अगस्‍त में बाढ़ के बाद अब पहली बार कोई नेता गांव तक आया है. बीजेपी ने आरोप लगाया है कि सत्‍ता के लिए तड़प रही कांग्रेस साजिश के तहत प्रत्‍याशियों का विरोध करा रही है.
Loading...

ये भी पढ़ें:

ममता बनर्जी के कायापलट के बाद 'प्रोजेक्‍ट स्‍टालिन' पर जुटेंगे प्रशांत किशोर!
बाल ठाकरे ने सचिन तेंदुलकर को दी थी सख्‍त चेतावनी, 'बॉम्‍बे' का किया था विरोध
जब PAK से उड़ी अफवाह, उद्धव ठाकरे की भतीजी नेहा ने मुस्लिम से कर ली है शादी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 4:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com