कोरोना से हुई कुल मौतों में 46% हिस्सा 60 से कम उम्र के मरीजों काः स्वास्थ्य मंत्रालय

कोरोना से हुई कुल मौतों में 46% हिस्सा 60 से कम उम्र के मरीजों काः स्वास्थ्य मंत्रालय
देश में वैश्विक महामारी की वजह से अब तक 21129 लोगों की मौत हुई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

15 से 60 वर्ष आयु वर्ग (Age Group) के कोरोना मृतकों (Covid-19 Deaths) को भी समूहों में बांटा गया है. इनमें 15 से 29 वर्ष उम्र के 3 प्रतिशत संक्रमितों ने जान गंवाई. वहीं 30 से 44 आयु वर्ग में मौत का आंकड़ा 11 प्रतिशत है. जबकि 45 से 59 आयु वर्ग में यही प्रतिशत 32 है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोविड-19 की वजह से जान गंवाने वालों (Covid-19 Deaths) में 46 प्रतिशत मरीज 60 साल से कम उम्र के थे. 15 से 60 आयु वर्ग के कोरोना मृतकों को लेकर ये आंकड़ा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिया है. देश में वैश्विक महामारी की वजह से अब तक 21129 लोगों की मौत हुई है. गौरतलब है कि भारत की आबादी में 15 से 60 साल के आयु वर्ग के लोगों की संख्या 55 प्रतिशत है. बृहस्पतिवार तक भारत में कोरोना में कुल 2 लाख 69 हजार कोरोना के एक्टिव केस दर्ज किए गए हैं.

कई समूहों में बांटा गया है आयु वर्ग
15 से 60 वर्ष आयु वर्ग के कोरोना मृतकों को भी समूहों में बांटा गया है. इनमें 15 से 29 वर्ष के आयु वर्ग के 3 प्रतिशत संक्रमितों ने जान गंवाई. वहीं 30 से 44 आयु वर्ग में मौत का आंकड़ा 11 प्रतिशत है. जबकि 45 से 59 आयु वर्ग में यही प्रतिशत 32 है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में करीब 53 प्रतिशत 60 साल से अधिक उम्र के कोरोना संक्रमितों ने जान गंवाई है. 60 साल ज्यादा उम्र के कोरोना मृतकों की कुल संख्या 11198 है.

14 से 44 वर्ष के आयु वर्ग में 15 प्रतिशत डेथ रेट रिकॉर्ड की गई है. आंकड़ों के मुताबिक भारत में 45 साल से अधिक उम्र की 25 फीसदी आबादी है. इसी आयु वर्ग में कोरोना से मौत के 85 फीसदी मामले सामने आए हैं.
8 राज्यों में सबसे ज्यादा मामले


गौरतलब है कि देश के अंदर आठ राज्यों में कोरोना के 90 फीसदी मामले हैं. ये आठ राज्य महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना हैं. इसके अलावा देश के 6 राज्यों में 86 फीसदी मौत के मामले हैं. वो राज्य हैं महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल. जबकि 32 जिलों में 80 फीसदी डेथ के केस हैं.

ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की 18वीं बैठक
कोरोना के मुद्दे पर शुरुआत में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वास्थ्य मंत्री की अध्यक्षता में ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स का गठन किया था जो कोरोना को लेकर समय-समय पर सरकार की तैयारियों और भविष्य में चुनौतियों की समीक्षा करता है.

गुरुवार को 18वीं ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक हुई जिसमें तमाम मुद्दों पर चर्चा हुई. इस बैठक में शामिल मंत्रियों और अधिकारियों को बताया गया कि दुनिया के पांच सबसे कोरोना प्रभावित देशों में दस लाख की आबादी के लिहाज से भारत की स्थिति बेहतर है. दस लाख की आबादी के हिसाब से भारत मे 538 कोरोना के मामले हैं जबकि इस दौरान 15 लोगों की जान गई है. दुनिया में ये औसत 1453 मामले हैं और 68.7 मौत.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading