पाकिस्‍तानी गोलीबारी के चलते घरों से दूर रहने को मजबूर लोग, सरकार बनाएगी बंकर

भाषा
Updated: August 13, 2017, 10:39 PM IST
पाकिस्‍तानी गोलीबारी के चलते घरों से दूर रहने को मजबूर लोग, सरकार बनाएगी बंकर
सीमा पर रहने वाले नागरिकों की सुरक्षा के लिए सरकार बनाएगी बंकर (Source: PTI)
भाषा
Updated: August 13, 2017, 10:39 PM IST
पाकिस्तानी सैनिकों की ओर से बार बार की जा रही गोलाबारी के चलते तीन महीने बाद भी सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले लोग अपने घरों में वापस जाने से डर रहे हैं. सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले लोग नौशेरा सेक्टर के पांच स्कूलों में बने शिविरों में आश्रय लेने के लिये मजबूर हैं.

प्रभावित ग्रामीणों का दूसरा घर बन चुके इन शिविरों में भारी चिकित्सा एवं अन्य सुविधाओं का अभाव है.

नौशेरा सेक्टर में जीरो लाइन के पास झंगर गांव के निवासी पुरूषोत्तम लाल ने बताया, 'हम लोग दशकों से पाकिस्तानी आक्रमण को झेल रहे हैं लेकिन बीते दो वर्ष से नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास स्थिति बेहद गंभीर हो गयी है. सीमा पार से पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा बिना किसी उकसावे के की जा रही गोलीबारी का आसान निशाना बनने के बजाय हमें अपने घरों से दूर रहना स्वीकार है.'

राजौरी जिला के विभिन्न सेक्टरों में पाकिस्तानी सैनिकों की गोलीबारी में चार नागरिकों की मौत के साथ पांच अन्य लोग घायल हुए थे.

जिला विकास आयुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने बताया कि नागरिकों की सुरक्षा के लिये एलओसी के पास सरकार करीब 7000 भूमिगत 'व्यक्तिगत एवं सामुदायिक' बंकरों का निर्माण करने की योजना बना रही है और इस संबंध में मंजूरी एवं कोष प्राप्ति के लिये पहले ही परियोजना रिपोर्ट केंद्र को भेजी जा चुकी है.

बुरी तरह प्रभावित नौशेरा जिला में सरकार ने पहले ही स्थानीय क्षेत्र विकास कोष के तहत 100 बंकरों का निर्माण कार्य शुरू कर दिया है. यह क्षेत्र हमेशा से पाकिस्तान के निशाने में रहा, है जिसके कारण जान-माल को भरी क्षति पहुंची है.
First published: August 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर