AC में बैठने वालों को किसानों के लिए 6000 रुपये का मतलब क्या पता: पीएम

पीएम ने तंज कसते हुए कहा, 'हमारी सरकार ने किसानों के लिए हर महीने 6 हजार रुपये देने का ऐलान किया है, लेकिन दिल्ली के AC कमरों में बैठे लोगों को 6 हजार कम लग रहा है, जबकि यही 6 हजार गरीब किसानों के लिए काफी काम आएंगे.'

News18Hindi
Updated: February 3, 2019, 11:05 PM IST
AC में बैठने वालों को किसानों के लिए 6000 रुपये का मतलब क्या पता: पीएम
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
News18Hindi
Updated: February 3, 2019, 11:05 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों के इनकम प्लान की आलोचना करने पर विपक्ष को जवाब दिया है. जम्मू में रविवार को एक रैली करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि एसी कमरों में बैठे लोग जमीन की कठोर सच्चाई से कटे हुए हैं. वे नहीं जानते कि ये आधे या एक एकड़ भूमि वाले छोटे किसानों के लिए थोड़ी सी भी आर्थिक सहायता कितनी कीमती है.

कांग्रेस की रैली में बोले तेजस्वी, 'राहुल गांधी में पीएम बनने के सभी गुण, मेरे पिता बिहार के शेर'

पीएम ने तंज कसते हुए कहा, 'हमारी सरकार ने किसानों के लिए हर महीने 6 हजार रुपये देने का ऐलान किया है, लेकिन दिल्ली के AC कमरों में बैठे लोगों को 6 हजार कम लग रहा है, जबकि यही 6 हजार गरीब किसानों के लिए काफी काम आएंगे और वे अपने बच्चों की पढ़ाई पर खर्च कर सकेंगे.'



लोकसभा चुनाव से ठीक पहले अंतरिम बजट में मोदी सरकार ने दो एकड़ तक जमीन रखने वाले किसानों को हर वर्ष 6000 रुपये देने का ऐलान किया. सरकार इसे 'मास्टरस्ट्रोक' मान रही है, तो कांग्रेस ने इसे बेहद कम बताते हुए किसानों के साथ मजाक करार दिया.

पीएम मोदी ने कहा, 'हम किसानों के लिए अलग से कर्ज की व्यवस्था कर रहे हैं. अगर कोई राज्य सोचता है कि किसानों को और अधिक दिया जा सकता है तो वे ऐसा करने के लिए स्वतंत्र हैं. हम इसे देश को खाद्य सुरक्षा प्रदान करने वाले किसानों के सम्मान के रूप में देखते हैं.' मोदी ने कहा कि इसका लाभ लेह लद्दाख को भी मिलेगा.

गांधी मैदान से कांग्रेस के मुख्यमंत्रियों का ट्रिपल अटैक, सबने कहा- NDA को सत्ता से हटाएं

उन्होंने कहा, 'यहां अधिकतर किसान इस मानदंड को पूरा करते हैं और उन्हें सालाना 6000 रुपये मिलेंगे. तीन किश्तों में यह राशि दी जाएगी और पहली किश्त जल्द पहुंचेगी. मैं रविवार को राज्य सरकार को नीति निर्देश भेजूंगा.’ मोदी ने कहा कि जब वह इस क्षेत्र में बीजेपी कार्यकर्ता के रूप में काम करते थे, तो दिल्ली के लोग लेह की सब्जियां लाने की मांग करते थे, जिनकी गुणवत्ता अच्छी होती है.
Loading...

मोदी ने कहा, ‘इसका मतलब है कि इस योजना पर एक साल में 75,000 करोड़ रुपये का खर्च आएगा. हमारी सरकार की तैयारी है कि किसानों को इसकी पहली किस्त जल्द से जल्द मिले. इस योजना से ऐसे गरीब किसानों को भी राहत मिलेगी जिन्हें कभी कर्ज माफी का फायदा नहीं मिला.'

राहुल गांधी ने फिर लगवाए 'चौकीदार चोर है' के नारे, PU को सेंट्रल यूनिवर्सिटी का दर्जा देने का वादा

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर