जम्मू-कश्मीरः गुपकर डिक्लरेशन के नेताओं ने किया DDC चुनाव लड़ने का ऐलान

फाइल फोटोः गुपकर डिक्लरेशन ने किया आगामी जिला विकास परिषद चुनाव लड़ने का ऐलान
फाइल फोटोः गुपकर डिक्लरेशन ने किया आगामी जिला विकास परिषद चुनाव लड़ने का ऐलान

पीपुल्स एलायंस फॉर गुपकर डिक्लरेशन (Peoples Alliance for Gupkar Declaration) ने जम्मू-कश्मीर में होने वाले आगामी डीडीसी चुनाव (District Developement Council) में हिस्सा लेने का फैसला किया है. शनिवार को जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के नेता सज्जाद लोन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसका ऐलान किया. मौके पर फारूख अब्दुल्ला (Farooq Abdulla) और महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) भी मौजूद रहीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2020, 6:36 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू कश्मीर में मुख्यधारा के राजनीतिक दलों के समूह पीपुल्स एलायंस फॉर गुपकर डिक्लरेशन (Peoples Alliance for Gupkar Declaration) ने आगामी डीडीसी चुनाव (District Developement Council) में हिस्सा लेने का फैसला किया है.

डिक्लरेशन के नेता सज्जाद लोन (Sajjad Lone) ने कहा कि हमने राज्य के सिविल सोयासटी के लोगों, एससी-एसटी और गुर्जर-बकरवाल समुदाय के लोगों के साथ मुलाकात की है. सभी लोग 5 अगस्त के फैसले से दुखी हैं, लिहाजा हमने आगामी डीसीसी चुनाव साझे रूप से लड़ने का फैसला किया है.

इस घोषणा के समय सज्जाद लोन के साथ नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdulla), पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) के साथ अन्य लोग भी मौजूद रहे.



बता दें कि पहले इन नेताओं ने जम्मू कश्मीर में किसी भी चुनावी गतिविधि में हिस्सा लेने से मना किया था, लेकिन अब उनके रूख में बदलाव आया है.
गुरुवार को जम्मू-कश्मीर राज्य चुनाव आयुक्त के के शर्मा ने 20 जिलों में जिला विकास परिषदों (डीडीसी) के लिए चुनाव और पंचायतों के उपचुनाव के लिए पहली अधिसूचना जारी की.

डीडीसी चुनाव 28 नवंबर से 22 दिसंबर तक आठ चरणों में होंगे. यह चुनाव पिछले साल पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 के प्रावधानों के निरस्त होने के बाद पहली बड़ी राजनीतिक गतिविधि है.

राज्य प्रशासन की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार, डीडीसी चुनाव के लिए नामांकन जमा करने की आखिरी तारीख अगला गुरुवार है, एक दिन बाद नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी और 16 नवंबर तक उम्मीदवारी वापस ली जा सकेगी.

28 नवंबर को सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक मतदान होगा और पंचायत उपचुनाव की मतगणना भी उसी दिन होगी. डीडीसी चुनाव के लिए मतगणना 22 दिसंबर को होगी.

चुनाव आयुक्त के के शर्मा ने कहा कि निर्वाचन क्षेत्रों के लिए परिसीमन किया गया था और प्रत्येक जिलों में 14 डीडीसी निर्वाचन क्षेत्रों के साथ पूरे केंद्र शासित प्रदेश में 280 डीडीसी की पहचान की गई है. डीडीसी का कार्यकाल पांच साल के लिए होगा. पश्चिम पाकिस्तान के शरणार्थियों (डब्ल्यूपीआर) को भी इन चुनावों में मताधिकार का इस्तेमाल करने का अधिकार होगा.

राज्य चुनाव आयोग ने 12,153 सरपंचों और पंचों का चुनाव करने के लिए पंचायतों के आठ चरण के उपचुनाव कराने के लिए भी पहली अधिसूचना जारी की.

चुनाव कश्मीर घाटी के 10 जिलों में फैले 24 प्रखंडों और जम्मू संभाग के छह जिलों के 53 प्रखंडों के लिए होंगे. साथ ही 28 नवंबर से शहरी स्थानीय निकायों के लिए भी आठ चरण में उपचुनाव होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज