लाइव टीवी

गुजरात के किसानों को राहत, Pepsico ने कहा- समझौते को तैयार

News18Hindi
Updated: April 27, 2019, 6:01 PM IST
गुजरात के किसानों को राहत, Pepsico ने कहा- समझौते को तैयार
फाइल फोटो

कंपनी द्वारा रजिस्टर्ड खास किस्म के आलू उगा रहे थे किसान, कंपनी ने किया था 1 करोड़ का दावा, अब समझौते के तहत कंपनी के लिए एफएल 2027 आलू उगा सकेंगे किसान

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2019, 6:01 PM IST
  • Share this:
अमेरिका की मल्टीनेशनल कंपनी पेप्सिको ने गुजरात के किसानों को आखिर राहत दे दी है. कंपनी ने शनिवार को एक बयान जारी कर कहा कि उनके द्वारा रजिस्टर्ड आलू उगाने के मामले में वो किसानों के साथ कोर्ट के बाहर समझौता करने जा रही है. गौरतलब है कि पेप्सिको ने गुजरात के कुल नौ किसानों पर मामला दर्ज करवाया था. आलू की वह किस्म जिसको लेकर मामला दर्ज करवाया गया है वह है एफएल 2027 जिसे कंपनी ने प्रोटेक्‍शन ऑफ प्लांट वैराइटीज एंड फॉर्मर राइट्स एक्टर 2001 के तहत रजिस्टर करवाया है. इस आलू से कंपनी अपने चिप्स लेज का निर्माण करती है. किसानों पर आरोप है कि वे इस किस्म का आलू उगा भी रहे हैं और उसे बेच भी रहे हैं, जबकि यह अधिकार केवल कंपनी का है और वो ही इसको उगाने की अनुमति दे सकती है. कंपनी ने हर किसान पर 1 करोड़ रुपये का दावा किया था.

ये भी पढ़ें- गुजरात के किसानों पर Pepsi Co. ने किया केस, मांगा एक करोड़ का हर्जाना

कंपनी के लिए उगा सकते हैं यह किस्म
पे‌प्सिको ने अब किसानों के साथ समझौते का मन बनाते हुए कहा है कि वे अब कंपनी के इस प्रोग्राम का हिस्सा हो सकते हैं. इससे किसानों को फायदा होगा कि उन्हें बेहतर उपज, ट्रेनिंग और कीमत मिलेगी. यदि वे इसका हिस्सा नहीं बनना चाहते हैं तो वे केवल एक एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर करें कि वे इस किस्म को नहीं उगाएंगे और अन्य किस्म के आलू को अपनी जमीन पर उगाएं.



ये भी पढ़ें: PHOTOS: जब राहुल ने प्रियंका से कहा कि ''मैंने दिया तुम्हें बड़ा हेलिकॉप्टर''



हम किसानों से नहीं उलझना चाहते
कोर्ट में बहस के दौरान कंपनी के वकील ने कहा कि पेप्सिको किसानों से किसी भी तरह नहीं उलझना चाहती है. वे देश के किसानों का उत्‍थान और उनकी भलाई चाहती है. पेप्सिको की तरफ से नियुक्त वकील आनंद याग्निक ने कहा कि कंपनी को किसानों के इस किस्म के आलू को उगाने के कारण नुकसान हुआ है और कोर्ट ने कहा है कि किसान एफएल 2027 आलू नहीं उगाएं. गौरतलब है कि साबरकांठा और अरवल्ली जिले के किसान इस किस्म का आलू उगा रहे थे.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 27, 2019, 5:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading