Home /News /nation /

perarivalan released congress flays verdict dmk welcomes it

पेरारिवलन की रिहाई: सुप्रीम कोर्ट के फैसले से कांग्रेस निराश, DMK ने किया स्वागत

राजीव गांधी हत्याकांड में दोषी एजी पेरारिवलन. (फाइल फोटो)

राजीव गांधी हत्याकांड में दोषी एजी पेरारिवलन. (फाइल फोटो)

कांग्रेस ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के मामले में दोषी एजी पेरारिवलन को रिहा करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर निराशा जताई है. हालांकि गांधी परिवार के सदस्यों ने अतीत में बयान दिया था कि उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों को माफ कर दिया है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. कांग्रेस ने बुधवार को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के मामले में दोषी एजी पेरारिवलन को रिहा करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर निराशा जताई है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि एक आतंकवादी, आतंकवादी होता है और उसके साथ आतंकवादियों की तरह व्यवहार किया जाना चाहिए. दरअसल मामले में पार्टी की प्रतिक्रिया थोड़ा चौंकाने वाली है, क्योंकि गांधी परिवार के सदस्यों ने अतीत में बयान दिया था कि उन्होंने पूर्व पीएम राजीव गांधी के हत्यारों को माफ कर दिया है. कांग्रेस ने कहा था कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी, राजीव गांधी के हत्यारों के खिलाफ कोई दुर्भावना नहीं रखते हैं. पार्टी ने कहा था कि वह उनकी भावनाओं का सम्मान करती है, लेकिन कानूनी कार्यवाही अलग है.

वहीं, डीएमके नेता और मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत किया है. इस मौके पर उन्होंने पेरारिवलन और उनके परिवार से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश ने यह भी स्पष्ट किया कि राज्यपाल एक निर्वाचित राज्य सरकार की शक्तियों में हस्तक्षेप नहीं कर सकता. स्टालिन ने कहा कि पेरारिवलन 31 वर्षों के बाद खुले आसमान के नीचे सांस ले सकेंगे. वहीं विपक्षी अन्नाद्रमुक ने भी पेरारिवलन की रिहाई के लिए दिवंगत जे जयललिता द्वारा उठाए गए कदमों को याद करते हुए आदेश का स्वागत किया.

पढ़ें-  क्या है अनुच्छेद 142? जिसके तहत सुप्रीम कोर्ट ने राजीव गांधी हत्याकांड के दोषी ‘पेरारिवलन’ को किया रिहा

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के 7 दोषियों में से एक दोषी ए जी पेरारिवलन को रिहा करने का आदेश दिया था. इसके लिए उच्चतम न्यायालय ने संविधान के अनुच्छेद 142 के तहत अपनी असाधारण शक्ति का इस्तेमाल किया है.

1991 में राजीव गांधी की हत्या के समय पेरारिवलन की उम्र 19 वर्ष थी और वह 31 साल से जेल में बंद है. 1991 में उसे बैटरियां खरीदने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था, जिसका इस्तेमाल उस बेल्ट बम को ट्रिगर करने के लिए किया गया था, जिसने पूर्व प्रधानमंत्री की हत्या कर दी थी.

Tags: DMK, MK Stalin, Rajiv Gandhi, Tamilnadu

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर