बिहार में हार पर कांग्रेस में रार, गहलोत के बाद खुर्शीद ने कसा सिब्बल पर तंज

फाइल फोटोः सलमान खुर्शीद ने फेसबुक पर पोस्ट लिखकर पार्टी के बागी नेताओं पर निशाना साधा.
फाइल फोटोः सलमान खुर्शीद ने फेसबुक पर पोस्ट लिखकर पार्टी के बागी नेताओं पर निशाना साधा.

बिहार चुनाव (Bihar Election) में कांग्रेस (Congress) के खराब प्रदर्शन पर एक बार फिर पार्टी नेताओं में जुबानी जंग शुरू हो गई है. अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के बाद सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid) ने कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) पर निशाना साधा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 7:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बिहार चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन को लेकर पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने एक बार फिर मोर्चा खोला है. इस बीच वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid) ने मंगलवार को बागी नेताओं पर निशाना साधते हुए ऐसे पार्टी सदस्यों को 'शंकालु व्यक्ति' करार दिया, जो समय-समय पर 'चिंता के दर्द' झेलते रहते हैं.

फेसबुक पर लिखी अपने पोस्ट में सलमान खुर्शीद ने मुगल बादशाह बहादुर शाह जफर (Bahadur Shah Zafar) की लाइनों से शुरुआत करते हुए लिखा, 'न थी हाल की जब में खबर रहे देखते औरों के ऐबो हुनर, पड़ी अपनी बुराइयों पर जो नजर तो निगाह में कोई बुरा न रहा.' मुगल बादशाह जफर अपने आलोचकों से अपनी कमियों को नजरअंदाज ना करने की सलाह दे रहे हैं.

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने अपनी पोस्ट में आगे लिखा, 'अगर मतदाता पार्टी के लिबरल मूल्यों को अहमियत नहीं दे रहे हैं, जिनका हम संरक्षण करते हैं, तो हमें सत्ता में आने के लिए शॉर्टकट तलाशने के बजाय लंबे संघर्ष के लिए तैयार रहना चाहिए.'



बता दें कि कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) सहित वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं ने हाल में संपन्न बिहार चुनाव में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन पर सवाल उठाते हुए समीक्षा की मांग की थी. बिहार चुनाव में कांग्रेस और राजद के गठबंधन को बीजेपी और नीतीश की अगुआई वाले गठबंधन के मुकाबले हार का सामना करना पड़ा. राज्य में एक बार फिर नीतीश की अगुआई में एनडीए की सरकार बनी है.
हालांकि महागठबंधन के सहयोगी दलों में से एक आरजेडी राज्य चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है, जबकि वाम दलों ने 29 में 16 सीटों पर जीत हासिल की. कांग्रेस के हिस्से में 70 सीटें थीं, लेकिन पार्टी को सिर्फ 19 सीटों पर जीत मिली. तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) की अगुआई वाली राजद के कुछ नेताओं ने भी महागठबंधन की हार के लिए कांग्रेस को दोषी ठहराया था.

बिहार से ताल्लुक रखने वाले कांग्रेस नेता और पार्टी महासचिव तारिक अनवर (Tariq Anwar) ने पिछले हफ्ते स्वीकारा था कि कुछ गलतियों की वजह से महागठबंधन के अन्य सहयोगियों के मुकाबले कांग्रेस का प्रदर्शन खराब रहा है. अनवर ने कहा कि पार्टी नेतृत्व बिहार चुनाव परिणाम को लेकर गंभीर है और आने वाले दिनों में इसकी समीक्षा की जाएगी.

बिहार में कांग्रेस के प्रदर्शन का साइड इफेक्ट, तमिलनाडु और बंगाल में साथी दलों में बढ़ी चिंता

सलमान खुर्शीद ने अपनी पोस्ट में आगे लिखा है, 'जब हम कुछ बेहतर करते हैं, तो निश्चित रूप से कुछ हद तक वे इसे आसानी कबूल कर लेते हैं, लेकिन जब हम कमजोर होते हैं, तो वे अपने नाखूनों से कचोटने की जल्दी में होते हैं. ऐसा लगता है कि अब भविष्य के लिए उनके पास बहुत कम ही नाखून बचेंगे.'

गहलोत ने सिब्बल पर साधा निशाना, कहा- आंतरिक मुद्दे का जिक्र मीडिया में नहीं करना चाहिए

खुर्शीद ने आगे लिखा, 'सत्ता से बाहर किया जाना सार्वजनिक जीवन में आसानी से स्वीकारा नहीं जा सकता, लेकिन अगर यह सिद्धांतों पर आधारित राजनीति का परिणाम है तो इसे सम्मान के साथ स्वीकारा जाना चाहिए. अगर हम सत्ता के लिए अपने सिद्धांतों के साथ समझौता करते हैं तो बेहतर है कि हम इसे छोड़ दें.'

यूपीए सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे सलमान खुर्शीद का ये बयान तब सामने आया है, जब बिहार चुनाव परिणाम के बाद पार्टी के भीतर एक बार फिर से बागी सुर उठने लगे हैं. कपिल सिब्बल जैसे नेताओं ने बिहार चुनाव में हार की जिम्मेदारी तय करने की मांग की तो राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सिब्बल पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस ने हमेशा ऐसे संकट को मात देकर वापसी की है, लेकिन पार्टी के आतंरिक मसलों पर मीडिया में चर्चा नहीं की जा सकती.

गहलोत की तरह ही सलमान खुर्शीद ने भी अपनी पोस्ट में बिना नाम लिए लिखा है कि समय-समय पर रणनीति के पुनर्मूल्यांकन की जरूरत होती है, लेकिन ऐसा मीडिया तक जाकर नहीं किया जा सकता.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज