मां महबूबा से मिलने की परमिशन पर बोलीं इल्तिजा-कानून पर विश्वास बहाल हुआ

सुप्रीम कोर्ट (supreme court) ने इल्तिजा (sana iltija javed) को अपनी पसंद की तारीख पर निजी तौर पर अपनी मां महबूबा मुफ्ती से मिलने की अनुमति दी है.

News18Hindi
Updated: September 6, 2019, 10:50 AM IST
मां महबूबा से मिलने की परमिशन पर बोलीं इल्तिजा-कानून पर विश्वास बहाल हुआ
सुप्रीम कोर्ट (supreme court) ने इल्तिजा (sana iltija javed) को अपनी पसंद की तारीख पर निजी तौर पर अपनी मां महबूबा मुफ्ती से मिलने की अनुमति दी है.
News18Hindi
Updated: September 6, 2019, 10:50 AM IST
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर (Jammu and kashmir) से अनुच्छेद 370 (article 370) हटाए जाने के पहले नजरबंद राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Former Chief Minister Mehbooba Mufti) की बेटी सना इल्तिजा जावेद (sana iltija javed) को सुप्रीम कोर्ट (supreme court) ने कश्मीर जाने की अनुमति दे दी है. गुरुवार को चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई, जस्टिस एस ए बोबडे और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की पीठ ने इल्तिजा को उनको महबूबा मुफ्ती से मुलाकात की अनुमति दी.

अदालत की ओर से यह अनुमति मिलने के बाद इल्तिजा ने कहा कि न्याय के शासन में उनका विश्वास और बहाल हुआ है. जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को 4 अगस्त को सैकड़ों अन्य राजनेताओं के साथ नजरबंद किया गया था.

इन दिनों चेन्नई (Chennai) में रह रहीं इल्तिजा ने कहा कि 'जब भारत सरकार मुझे अपना मौलिक अधिकार, मेरी नागरिक स्वतंत्रता नहीं दे रही थी, तो मेरे पास न्यायपालिका के दरवाजे पर दस्तक देने के अलावा और कोई विकल्प नहीं था, जिस पर मुझे पूरा विश्वास है. न्यायपालिका में मेरा विश्वास आज और बहाल  हुआ है.'

इल्तिजा ने कहा था- 

सुप्रीम कोर्ट में अपनी याचिका में सना इल्तिजा जावेद ने कहा था कि वह अपनी मां के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित थीं, क्योंकि वह एक महीने में उनसे नहीं मिली थीं.

इल्तिजा को अपनी पसंद की तारीख पर निजी तौर पर अपनी मां से मिलने की अनुमति देते हुए अदालत ने कहा कि जहां तक ​​श्रीनगर में स्वतंत्र रूप से घूमने की बात है, इसके लिए उन्हें स्थानीय अधिकारियों से अनुमति लेनी होगी.

इल्तिजा ने दावा किया
Loading...

इल्तिजा ने दावा किया कि 'मुझे हिरासत में भी रखा गया था. 6 से लेकर 22 तारीख तक जब तक मैं चेन्नई के लिए नहीं निकली, मुझे हिरासत में रखा गया और इस अवधि के दौरान एक दिन भी नहीं गुजरा जब मैंने अधिकारियों से अपनी मां से मिलने के लिए नहीं पूछा या बस फोन पर उनसे बात करने के लिए न कहा हो, लेकिन इन सभी अनुरोधों को ठुकरा दिया गया था.'

उन्होंने कहा, 'इस बार जब मैं जाऊंगी, तो वह उन्हें परेशान नहीं करेंगे और न ही मुझे डराएंगे, क्योंकि मेरे पास सुप्रीम कोर्ट का समर्थन है.' इल्तिजा ने दावा किया कि वे मुझे उस तरह से परेशान नहीं कर सकते हैं जैसे उन्होंने उन दो हफ्तों में किया था जब मैं कश्मीर में थी.'

यह भी पढ़ें: Exclusive: कश्मीर के विकास का रोडमैप तैयार, 10 मंत्रालय मिलकर करेंगे काम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 6, 2019, 9:28 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...