Covid Vaccine News: भारत में मिले कोरोना के नए वेरिएंट पर भी है असरदार है फाइज़र और मॉडर्ना की वैक्सीन: स्टडी


एक स्टडी के मुताबिक फाइजर की एफिकेसी सबसे ज्यादा 95% है, जबकि मॉडर्ना का असर 94.1% माना जा रहा है.

एक स्टडी के मुताबिक फाइजर की एफिकेसी सबसे ज्यादा 95% है, जबकि मॉडर्ना का असर 94.1% माना जा रहा है.

Pfizer Moderna Vaccines: अमेरिका में इन दिनों फाइजर और मॉडर्ना की वैक्सीन लगाई जा रही है. अधिकतर विशेषज्ञ फाइजर और मॉडर्ना की वैक्सीन को सबसे सफल मान रहे हैं. ये वैक्सीन mRNA तकनीक पर काम करती है.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारत में मिले कोरोना वायरस के नए वेरिएंट (COVID-19 New Varient) ने तबाही मचा रखी है. दुनिया के कई एक्सपर्ट्स दावा कर रहे हैं कि कुछ वैक्सीन कोराना के इस वेरिएंट के खिलाफ ज्यादा असरदार नहीं है, लेकिन इस बीच अमेरिका के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि फाइजर और मॉडर्ना की वैक्सीन (Pfizer Moderna Vaccines) भारत में कोरोना के दो नए वेरिएंट के खिलाफ भी काम करती है. ये अध्ययन एनवाईयू ग्रॉसमैन स्कूल ऑफ मेडिसिन और एनवाईयू लैंगोन सेंटर की तरफ से किया गया है. हालांकि इसके नतीजे अभी तक किसी जर्नल में प्रकाशित नहीं हुए हैं.

इस स्टडी पर नज़र रखने वाले एक वैज्ञानिक ने समाचार एसेंजी एएफपी को बताया, 'हमने स्टडी में पााया कि वैक्सीन की एंटीबॉडी नए वेरिएंट के खिलाफ थोड़े कमजोर हैं, लेकिन फिर भी ये वैक्सीन इस वेरिएंट के खिलाफ लड़ने के लिए काफी है. यानी हम ये कह सकते हैं कि फाइजर और मॉडर्ना की वैक्सीन भारत में कोरोना के दो नए वेरिएंट के खिलाफ असरदार है.'

क्या पता चला रिसर्च में

बता दें कि अमेरिका में इन दिनों फाइजर और मॉडर्ना की वैक्सीन लगाई जा रही है. रिसर्च करने वाले वैज्ञानिकों ने ऐसे लोगों के सैंपल लिए जिन्हे ये वैक्सीन लगाई जा रही है. इसके बाद लैब में ये पता लगाया गया कि क्या ये दोनों वैक्सीन भारत मे कोरोना के दो नए वेरिएंट B.1.617 या B.1.618 के खिलाफ काम करती है या नहीं. वैज्ञानिकों के मुताबिक B.1.617 के प्रभाव को ये वैक्सीन चार गुना कम कर देती है. जबकि B.1.618 के खिलाफ ये तीन गुना तक असरदार है.


दुनिया की नंबर-1 वैक्सीन!

एक स्टडी के मुताबिक फाइजर की एफिकेसी रेट सबसे ज्यादा 95% है, जबकि मॉडर्ना का असर 94.1% माना जा रहा है. अधिकतर विशेषज्ञ फाइजर वैक्सीन को सबसे सफल मान रहे हैं. ये वैक्सीन mRNA तकनीक पर काम करती है. बता दें कि भारत सरकार की भी इन दोनों इन दोनों कंपनियों बातचीत चल रही है और उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही डील पक्की हो जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज