अब 12 से कम उम्र के बच्चों पर अपनी वैक्सीन का बड़े स्तर पर ट्रायल करेगी Pfizer

फाइज़र वैक्सीन (सांकेतिक तस्वीर)

फाइज़र वैक्सीन (सांकेतिक तस्वीर)

फाइज़र (Pfizer Vaccine) ने मंगलवार को कहा है कि इस स्टडी में अमेरिका, फिनलैंड, पोलैंड और स्पेन में 90 से ज्यादा क्लीनिकल साइट्स पर 4500 बच्चों पर ट्रायल किया जाएगा. यूरोपीय नियामक संस्था पहले से ही फाइज़र की वैक्सीन के 12 से 15 वर्ष आयु समूह में इस्तेमाल की छूट दे चुकी है.

  • Share this:

नई दिल्ली. अमेरिकी फार्मा कंपनी फाइज़र (Pfizer) अब 12 साल से कम उम्र के बच्चों में अपनी वैक्सीन के बड़े ट्रायल (Vaccine Trial) की तैयारी कर रही है. फाइज़र ने मंगलवार को कहा है कि इस स्टडी में अमेरिका, फिनलैंड, पोलैंड और स्पेन में 90 से ज्यादा क्लीनिकल साइट्स पर 4500 बच्चों पर ट्रायल किया जाएगा. यूरोपीय नियामक संस्था पहले से ही फाइज़र की वैक्सीन के 12 से 15 वर्ष आयु समूह में इस्तेमाल की छूट दे चुकी है.

यूरोपीय मेडिसिन एजेंसी ने बताया था कि बच्चों में वैक्सीन का प्रभाव सकारात्मक रहा है और कोई साइड इफेक्ट्स नहीं दिखाई दिए हैं. इससे पहले अमेरिका और कनाडा में फाइज़र की वैक्सीन के 12 साल से अधिक आयु समूह में इस्तेमाल की छूट दी जा चुकी है.

ब्रिटेन में भी दी गई छूट

कुछ दिन पहले ब्रिटेन की मेडिसिन रेगुलेटरी बॉडी ने भी फाइज़र की वैक्सीन को 12-15 साल उम्र के बच्चों में इस्तेमाल की छूट दे दी है. देश की रेगुलेटरी अथॉरिटी ने वैक्सीन को इस आयु समूह के लिए पूरी तरह सेफ बताया है. अथॉरिटी कहा-हमने इस वैक्सीन का 12 से 15 साल की उम्र के बच्चों में सफल ट्रायल किया है. ये वैक्सीन इस आयु समूह के लिए पूरी तरह सुरक्षित और प्रभावकारी पाई गई है. इसमें किसी भी तरह का कोई खतरा नहीं दिखा है. हालांकि अब ये देश में वैक्सीन की एक्सपर्ट कमेटी पर निर्भर है कि वो इस आयुसमूह में वैक्सीनेशन की छूट देगी या नहीं.
2000 बच्चों पर किया गया ट्रायल, साइड इफेक्ट्स का रखा गया विशेष खयाल

वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल में 2000 बच्चों को शामिल किया गया था. कमीशन ऑन ह्यूमन मेडिसिन के चेयरमैने प्रोफेसर सर मुनीर पीरमोहम्मद ने कहा-बच्चों में ट्रायल करते वक्त हम विशेष खयाल रख रहे थे. विशेष तौर पर साइड इफेक्ट्स का.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज