अपना शहर चुनें

States

Corona Vaccine: फाइजर के कोरोना वैक्‍सीन को भारत में मंजूरी मुश्किल, इस शर्त पर अटकी बात

Coronavirus Vaccine Update: ब्रिटिश दवा निर्माता कंपनी फाइजर (Pfizer) की भारतीय इकाई ने भारत सरकार के सामने भी एक शर्त रखी है. माना जा रहा है कि इस शर्त की वजह से भारत में उसकी वैक्‍सीन (Pfizer corona Vaccine) के इस्‍तेमाल की कोशिश नाकाम हो सकती है.
Coronavirus Vaccine Update: ब्रिटिश दवा निर्माता कंपनी फाइजर (Pfizer) की भारतीय इकाई ने भारत सरकार के सामने भी एक शर्त रखी है. माना जा रहा है कि इस शर्त की वजह से भारत में उसकी वैक्‍सीन (Pfizer corona Vaccine) के इस्‍तेमाल की कोशिश नाकाम हो सकती है.

Coronavirus Vaccine Update: ब्रिटिश दवा निर्माता कंपनी फाइजर (Pfizer) की भारतीय इकाई ने भारत सरकार के सामने भी एक शर्त रखी है. माना जा रहा है कि इस शर्त की वजह से भारत में उसकी वैक्‍सीन (Pfizer corona Vaccine) के इस्‍तेमाल की कोशिश नाकाम हो सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 6, 2020, 4:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. ब्रिटिश दवा निर्माता कंपनी फाइजर (Pfizer) की भारतीय इकाई ने उसके द्वारा विकसित की गई कोरोना वायरस की वैक्‍सीन (Coronavirus Vaccine) के आपातकालीन इस्तेमाल की औपचारिक मंजूरी के लिए भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) में आवेदन किया है. हालांकि उसने इसके साथ ही भारत सरकार के सामने भी एक शर्त रखी है. माना जा रहा है कि इस शर्त की वजह से भारत में उसकी वैक्‍सीन (Pfizer corona Vaccine) के इस्‍तेमाल की कोशिश नाकाम हो सकती है.

दरअसल फाइजर ने भारत में अपनी कोरोना वैक्‍सीन के इस्‍तेमाल को लेकर भारत सरकार के सामने शर्त रखी है कि अगर वैक्‍सीन के कारण किसी को गंभीर साइड इफेक्‍ट होते हैं तो पीड़ितों को मुआवजा देने का भार उस पर न हो. उसकी मांग है कि भारत सरकार ही पीड़ितों को मुआवजा दे और ऐसी स्थिति में फाइजर की कोई भी जिम्‍मेदारी न हो. हालांकि भारत सरकार फाइजर की इस शर्त को लेकर नाखुश है.





बता दें कि फाइजर ने उसके कोविड-19 टीके को ब्रिटेन और बहरीन में मंजूरी मिलने के बाद भारत में इमरजेंसी यूज के लिए इसके इस्‍तेमाल का अनुरोध किया है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दवा नियामक को दिए किए गए अपने आवेदन में कंपनी ने देश में टीके के आयात एवं वितरण के संबंध में मंजूरी दिये जाने का अनुरोध किया है. इसके अलावा, दवा एवं क्लीनिकल परीक्षण नियम, 2019 के विशेष प्रावधानों के तहत भारत की आबादी पर क्लीनिकल परीक्षण की छूट दिए जाने का भी अनुरोध किया है.
एक सूत्र ने कहा, 'फाइजर इंडिया ने भारत में उसके कोविड-19 टीके के आपातकालीन उपयोग की मंजूरी के लिए चार दिसंबर को डीजीसीआई के समक्ष आवेदन किया है.' ब्रिटेन ने बुधवार को फाइजर के कोविड-19 टीके को आपातकालीन उपयोग के लिए अस्थायी मंजूरी प्रदान की थी.

ब्रिटेन के बाद बहरीन शुक्रवार को दुनिया का दूसरा देश बन गया है, जिसने दवा निर्माता कंपनी फाइजर और उसके जर्मन सहयोगी बायोएनटेक द्वारा विकसित कोविड-19 टीके के आपात इस्तेमाल की औपचारिक मंजूरी दी है. दवा कंपनी पहले ही अमेरिका में ऐसी ही मंजूरी के लिए आवेदन कर चुकी है. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज