भारतीय दवा कंपनी वॉकहार्ट ने केंद्र सरकार से कहा- सालाना बना सकते हैं कोविड वैक्सीन की 2 अरब खुराक

देश में टीकों की सप्लाई की शिकायत जारी है.

देश में टीकों की सप्लाई की शिकायत जारी है.

वॉकहॉर्ट (Wockhardt) किसी भी कोविड वैक्सीन की सालना 50 करोड़ डोज बनाने की क्षमता को जल्द से जल्द स्थापित कर सकती है.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारतीय दवा कंपनी वॉकहार्ट (Wockhardt) ने केंद्र को बताया कि वह फरवरी 2022 तक 50 करोड़ खुराक की क्षमता के साथ अधिकांश कोविड -19 रोधी टीकों के एक वर्ष में दो खरब खुराक का उत्पादन कर सकती है. द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार कंपनी ने केंद्र सरकार को औपचारिक रूप से यह प्रस्ताव दिया है. वॉकहार्ट ने देश में संभावित सहयोगियों की पहचान करने में मदद मांगी है जिसके टीकों का वह उत्पादन कर सके.

रिपोर्ट के अनुसार कंपनी ने सरकार से कहा है कि वह फिलहाल बाजार में मौजूद वैक्सीन्स का उत्पादन कर सकती है. इसके साथ ही उसकी वैक्सीन बनाने के लिए जरूरी तकनीक हासिल करने की प्रक्रिया जारी है. कंपनी के मुताबिक वह mRNA, प्रोटीन आधारित और वायरल सेक्टर आधारित तीनों तरह की वैक्सीन का उत्पादन और शोध कर सकती है.

पेशकश पर विचार कर रही सरकार

मिली जानकारी के अनुसार सरकार कंपनी की पेशकश पर विचार रही है क्योंकि यूके सरकार के साथ पहले से ही यूनाइटेड किंगडम के लिए विशेष रूप से कोविड -19 टीकों को 'फिल एंड फिनिश' करने का समझौता है.
फिलहाल कंपनी नॉर्थ वेल्स में अपने प्लांट से काम कर रही है जहां वे एस्ट्राजेनेका-ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन को वॉयल्स में भर रहे हैं और उनकी पैकेजिंग कर रहे हैं. समझौते के अनुसार इसकी क्षमता का उपयोग अन्य कोविड -19 टीकों के लिए किया जाएगा.

रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री भी कर चुके हैं जिक्र

स्वदेशी जागरण मंच द्वारा आयोजित एक संगोष्ठी में हाल ही में रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख एल मंडाविया ने भी कथित तौर पर कंपनी का जिक्र किया था. उन्होंने कहा था, 'वॉकहार्ट ने पिछले हफ्ते हमें बताया था कि वह किसी भी कंपनी (कोविड -19 के निर्माण के लिए) के साथ टाइ अप करना चाहती है. इसलिए हम उस पर भी काम कर रहे हैं. हम एक कंपनी के साथ उनका टाइअप करवाएंगे.'




अखबार की रिपोर्ट के अनुसार वॉकहॉर्ट किसी भी कोविड वैक्सीन की सालना 50 करोड़ डोज बनाने की क्षमता को जल्द से जल्द स्थापित कर सकती है. .यह क्षमता स्थापित करने में 6 से 9 महीना लग सकता है. सूत्रों के अनुसार वॉकहार्ट की कंपनियों से बात चल रही है. आने वाले समय में एक अंतरराष्ट्रीय कंपनी के साथ समझौता हो सकता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज