दानिश सिद्दीकी को सिर्फ गोली नहीं मारी गई, उनके शव के साथ बर्बरता भी हुईः रिपोर्ट

दानिश सिद्दीकी को बीते रविवार को जामिया मिल्लिया इस्लामिया कब्रिस्तान में दफन कर दिया गया. (फाइल फोटो: AP)

Danish Siddiqui Death: खबर आई थी कि अफगानिस्तान (Afghanistan) में कंधार के स्पिन बोल्डक जिले में सुरक्षा बलों और तालिबान के लड़ाकों के बीच इलाके पर कब्जे को लेकर जंग चल रही थी. इस दौरान हुई गोलीबारी में सिद्दीकी मौत हो गई थी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. फोटो पत्रकार दानिश सिद्दीकी की मौत के मामले में नई खबर सामने आई है. कहा जा रहा है कि पत्रकार के शव के साथ तालिबान (Taliban) ने बर्बरता भी की थी. मीडिया रिपोर्ट्स में अफगान सेना के एक कमांडर के हवाले से यह दावा किया जा रहा है. पहले कहा जा रहा था कि शुक्रवार को अफगान बलों और तालिबान के बीच लड़ाई में गोली लगने के चलते सिद्दीकी की मौत हुई थी. सिद्दीकी को बीते रविवार को जामिया मिल्लिया इस्लामिया कब्रिस्तान में दफन किया गया.

    एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अफगान सेना में कमांडर बिलाल अहमद ने बताया कि तालिबानियों ने पहले दानिश को गोली मारी थी. इसके बाद जब उन्हें यह जानकारी लगी की पत्रकार भारतीय है, तो उनके सिर पर गाड़ी भी चढ़ा दी. रिपोर्ट के मुताबिक, कमांडर ने बताया कि सिद्दीकी के शव के साथ यह बर्बरता उनके भारतीय होने के चलते की गई थी. क्योंकि तालिबानी भारत से नफरत करते हैं.

    यह भी पढ़ें: EXCLUSIVE: दानिश सिद्दीकी की मौत पर तालिबान ने जताया दुख, कहा- इसमें हमारा हाथ नहीं

    खबर आई थी कि अफगानिस्तान में कंधार के स्पिन बोल्डक जिले में सुरक्षा बलों और तालिबान के लड़ाकों के पास इलाके पर कब्जे को लेकर जंग चल रही थी. इस दौरान गोलीबारी में उनकी मौत हो गई थी. काबुल स्थित भारतीय दूतावास की तरफ से जारी मृत्यु प्रमाण पत्र में उनकी मौत का कारण गोली लगना बताया गया है. सिद्दीकी समाचार एजेंसी रॉयटर्स के साथ काम कर रहे थे. उन्हें अपने काम के चलते पुलित्जर पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका था.

    रविवार शाम को उनका शव जामिया नगर पहुंचा था. उस दौरान परिवार और दोस्तों समेत कई लोगों की भीड़ एकत्र हो गई थी. भीड़ को काबू करने के लिए पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी. साथ ही वे भीड़ में शामिल लोगों से कोविड संबंधी व्यवहार का पालन करने की अपील कर रहे थे. उनके पार्थिव शरीर को रात करीब 10:15 बजे जामिया कब्रिस्तान ले जाया गया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.