अपना शहर चुनें

States

क्या किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए अब 12 फीसदी की दर पर मिलेगा लोन, पढ़ें पूरा मामला

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक खबर में दावा किया जा रहा है कि केसीसी पर ब्याज दर 12 फीसदी कर दिया जाएगा.
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक खबर में दावा किया जा रहा है कि केसीसी पर ब्याज दर 12 फीसदी कर दिया जाएगा.

PIB Fact Check: किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) पर ब्याज दर को 7 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी बढ़ाने जाने का दावा किया जा रहा है. सोशल मीडिया पर यह जानकारी तेजी से वायरल हो रही है. पीआईबी फैक्टचेक में इस बारे में सही जानकारी सामने आई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2021, 5:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) को लेकर दावा किया जा रहा है कि सरकार ने अब इसपर ब्याज दर को बढ़ाकर 12 फीसदी कर दिया है. सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही इस खबर को सरकार ने फर्जी करार दिया है. सरकार की तरफ से प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (PIB) ने इस खबर का फैक्ट चेक करने के बाद इसे फर्जी करार दिया. दरअसल, इस खबर में कहा गया है कि प्राकृतिक आपदाओं की मार झेल रहे किसानों को मोदी सरकार ने एक और नया झटका दिया है. अटलजी की सरकार के समय शुरू हुए किसान क्रेडिट कार्ड लोन किसानों को 7 फीसदी ब्याज के स्थान पर अब 1 अप्रैल से 12 फीसदी ब्याज दर पर मिलेगा. आरबीआई ने सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों को दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए हैं. केसीसी पर बारह फीसदी ब्याज दर पर किसानों में भारी रोष है.

इस फर्जी खबर के मुताबिक, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने किसानों के लिए 7 फीसदी की लोन दर पर किसान क्रेडिट कार्ड योजना शुरू की थी. आज देश के अधिकतर किसानों के पास केसीसी है. केसीसी लोन पर कार्ड रेट वैसे बारह फीसदी है, लेकिन सरकार ने 5 फीसदी सब्सिडी देकर 7 फीसदी ब्याज में लोन मुहैया कराती है. लेकिन, अब किसानों को एक अप्रैल से बारह फीसदी दर पर केसीसी लोन दिया जाएगा.

यह भी पढ़ेंः PM-Kisan: आपकी इस गलती की वजह से खाते में नहीं आ रहे पैसे, सुधार करने का ये है प्रोसेस




क्या है पीआईबी का कहना
सरकार संस्था पीआईबी ने इस खबर का फैक्ट चेक किया है. पीआईबी ने इस खबर को लेकर अपने दावे में लिखा है- खबर में दावा किया जा रहा है कि अब किसान क्रेडिट कार्ड लोन 7 फीसदी की जगह 12 फीसदी की ब्याज दर पर मिलेगा. यह दावा फर्जी है. केंद्र सरकार ने केसीसी लोन के ब्याज दर को बढ़ाने के संबंध में ऐसी कोई घोषणा नहीं की है.



क्या होता है किसान क्रेडिट कार्ड?
किसान क्रेडिट कार्ड बैंकों की ओर से किसानों को जारी किए जाते हैं. यह एक तरह का क्रेडिट कार्ड होता है, जिसकी मदद से किसान अपने कृषि कार्यों को पूरा करने के लिए 7 फीसदी की ब्याज दर पर लोन लेता है. इस कार्ड को पाने के लिए किसान बैंक में आवदेन करते हैं. इसके बाद बैंक किसान की योग्यता जांच करने के बाद 3 से 4 दिन में किसान को इसकी जानकारी देते हैं. जब बैंक को लगता है कि किसान यह कार्ड पाने के योग्य है तो उससे जरूरी डॉक्युमेंट्स मांगे है. सभी तरह के वेरिफिकेशन प्रोसेस को पूरा करने के बाद किसान के पते पर किसान क्रेडिट कार्ड भेज दिया जाता है.

यह भी पढ़ेंः किसानों का नया प्लान! इस बिजनेस से होगा डबल मुनाफा, तेजी से दोगुनी होगी इनकम

आपको भी मिले कोई मैसेज तो करवा सकते हैं फैक्ट चेक
अगर आपको भी कोई ऐसा मैसेज मिलता है तो फिर उसको पीआईबी के पास फैक्ट चेक के लिए https://factcheck.pib.gov.in/ अथवा वॉट्सऐप नंबर +918799711259 या ईमेलः pibfactcheck@gmail.com पर भेज सकते हैं. यह जानकारी पीआईबी की वेबसाइट https://pib.gov.in पर भी उपलब्ध है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज