1971: ये थे वो तीन पायलट जिन्हें लेने तत्कालीन CM ज्ञानी जैल सिंह गए थे वाघा बॉर्डर

फाइल फोटो

अगर इसी कड़ी में थोड़ा पीछे जाते हुए 1971 के भारत-पाक युद्ध की बात करें तो उस वक्त भी हमारे कुछ पायलट पाकिस्तान में बंदी बनाए गए थे

  • Share this:
विंग कमांडर अभिनंदन की आज देश वापसी हो रही है. वाघा बॉर्डर के रास्ते वो पाकिस्तान से भारत में दाखिल होंगे. पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह वाघा बॉर्डर पर उनका स्वागत करेंगे. कैप्टन अमरिंदर ने खुद अभिनंदन को लेने के लिए जाने की बात कही थी.

अगर इसी कड़ी में थोड़ा पीछे जाते हुए 1971 के भारत-पाक युद्ध की बात करें तो उस वक्त भी हमारे कुछ पायलट पाकिस्तान में बंदी बनाए गए थे. हालांकि बाद में कुछ पायलट को छोड़ दिया गया था. पाकिस्तान की जेल से बाहर आने वाले एयर फोर्स के ऐसे ही तीन पायलट थे दिलीप, हरीश और एमएस गरेवाल.

ये तीनों ही पायलट रावलपिंडी में पाकिस्तान की जेल तोड़कर भाग खड़े हुए थे. रावलपिंडी के रास्ते पेशावर और फिर पेशावर से अफगानिस्तान होते हुए भारत में घुसने की कोशिश कर रहे थे. कई तरह की चुनौतियों का सामना करते हुए ये अफगानिस्तान की सीमा से कुछ ही दूरी पर थे कि पाकिस्तान के अधिाकरियों ने तीनों को पकड़ लिया.

ये भी पढ़ें- F-16 की इस खासियत पर इतराता है पाकिस्तान, जिसे आज भारत ने मार गिराया

पायलट अभिनंदन को पाकिस्‍तान ने इन वजहों से 'हाथ भी नहीं लगाया'

एक बार फिर से उन्हें जेल में डाल दिया गया. लेकिन बाद में जुल्फिकार अहमद भुट्टों के हस्तक्षेप के बाद दूसरे और अफसरों के साथ-साथ इन तीन पायलटों को भी छोड़ दिया गया. उन्हें भी वाघा बॉर्डर के रास्ते ही भारत भेजा गया था. तब पंजाब के सीएम ज्ञानी जैल सिंह थे जो बाद में देश के राष्ट्रपति भी बने.

54 बीटेक-एमटेक, 24 एमबीए, बीबीए-बीसीए डिग्री वाले युवक दिल्ली पुलिस में बने सिपाही

'पाकिस्तान में सिर्फ अभिनंदन ही नहीं ये एयर फोर्स अफसर भी हैं, लेकिन पाक कर रहा इनकार'

Air strike: 3 विमान भरते हैं उड़ानएक गिराता है बम, 2 ऐसे करते हैं दुश्मन से रक्षा

एयर स्ट्राइक: ये हैं वो चार खास पॉइंट जिस पर टिकी होती एयर स्ट्राइक

एयर स्ट्राइक: इसलिए कारगिल के बाद एयर स्ट्राइक में मिराज एयरक्राफ्ट का हुआ इस्तेमाल 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.