20 मई को केरल के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे पिनराई विजयन, समारोह में शामिल होंगे सीमित लोग

विजयन के नेतृत्व में माकपा की अगुवाई वाली एलडीएफ ने छह अप्रैल को हुए विधानसभा चुनाव में विपक्षी यूडीएफ को हराकर प्रचंड जीत दर्ज की. (PTI Photo)

विजयन के नेतृत्व में माकपा की अगुवाई वाली एलडीएफ ने छह अप्रैल को हुए विधानसभा चुनाव में विपक्षी यूडीएफ को हराकर प्रचंड जीत दर्ज की. (PTI Photo)

Kerala News: विजयन से जब पत्रकारों ने समारोह में शामिल होने वालों की संख्या के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा, ''बड़ी संख्या में लोग समारोह में शामिल न हों, यह सुनिश्चित करना हमारा मकसद है. बेहद कम लोग शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे."

  • Share this:

तिरुवनंतपुरम. केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि 20 मई को होने वाले वाम मोर्चे की नयी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में चुनिंदा लोग शामिल हों, यह सुनिश्चि करने के प्रयास किए जा रहे हैं. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) की केरल इकाई ने शनिवार को सुझाव किया था कि कोविड-19 मामलों में अभूतपूर्व वृद्धि के मद्देनजर नये मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह डिजिटल माध्यम से आयोजित किया जाना चाहिये.

विजयन की दैनिक ब्रीफिंग के दौरान जब पत्रकारों ने इस बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि यह डिजिटल समारोह होगा.

बेहद कम लोग होंगे शपथ ग्रहण में शामिल

विजयन से जब पत्रकारों ने समारोह में शामिल होने वालों की संख्या के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा, ''बड़ी संख्या में लोग समारोह में शामिल न हों, यह सुनिश्चित करना हमारा मकसद है. बेहद कम लोग शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे. हम आपको इस बारे में जानकारी देंगे. '' इससे पहले मीडिया में आईं खबरों में दावा किया गया था कि समारोह में 700 से अधिक लोगों को आमंत्रित किये जाने का अनुमान है.
विजयन अभी भी कैबिनेट की कुल संख्या पर फैसला नहीं कर सके हैं, क्योंकि सीएम के पद सहित नियमों के अनुसार उनके पास अधिकतम 21 मंत्री हो सकते हैं.

ये भी पढ़ेंः- कैसे रखे जाते हैं तूफानों के नाम, जानें 'टाउते' का क्या मतलब, किस देश ने दिया नाम

विधानसभा चुनावों में मिली प्रचड़ जीत



विजयन के नेतृत्व में माकपा की अगुवाई वाली एलडीएफ ने छह अप्रैल को हुए विधानसभा चुनाव में विपक्षी यूडीएफ को हराकर प्रचंड जीत दर्ज की. एलडीएफ ने कुल 140 सीटों में से 99 सीटें जीतीं, जबकि कांग्रेस की अगुवाई वाली यूडीएफ केवल 41 जीत सकी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज