Assembly Banner 2021

भारत-चीन झड़प पर पिनराई, येचुरी की चुप्पी खेदजनक: कांग्रेस नेता

केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीतला की फाइल फोटो

केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीतला की फाइल फोटो

चेन्नीतला (Chennithala) ने दावा किया कि 2018 में अलप्पुझा में माकपा पार्टी सम्मेलन में पार्टी के केरल (Kerala) सचिव के. बालाकृष्णन ने कहा था कि भारत, जापान, आस्ट्रेलिया और अमेरिका (America) मिलकर चीन पर चारों ओर से हमले कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 23, 2020, 11:54 PM IST
  • Share this:
तिरुवनंतपुरम. केरल विधानसभा (Kerala Assembly) में विपक्ष के नेता (Opposition Leader) रमेश चेन्नीतला ने कहा कि लद्दाख (Ladakh) में गलवान घाटी (Galwan Valley) में चीनी घुसपैठ और 20 भारतीय सैनिकों की ‘‘नृशंस हत्या’’ पर माकपा महासचिव सीताराम येचुरी (Sitaram Yechury) और मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (Pinarayi Vijayan) की ‘‘चुप्पी’’ ‘‘खेदजनक’’ है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चेन्नीतला (Ramesh Chennithala) ने विजयन को लिखे एक खुले पत्र में कहा कि चीनी हमला और भारतीय सैनिकों (Indian Soldiers) की शहादत पर पूरे देश में हमलावरों के खिलाफ ‘‘भारी आक्रोश’’ है.

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने 20 भारतीय सैनिकों की शहादत (Martyrdom) पर आपका ट्वीट (Tweet) देखा था. हालांकि उसमें चीन के नापाक हरकत की कोई निंदा नहीं की गई थी.’’ उन्होंने कहा कि येचुरी के ट्वीट में भी चीन की आक्रामकता (Chinese Aggression) का कोई उल्लेख नहीं किया गया था. उन्होंने कहा, ‘‘इसका क्या यह मतलब है कि आप और आपकी पार्टी भारत की भूमि के बारे में अपने विवादास्पद बयान को बदलने के लिए तैयार नहीं हैं, जिस पर 1962 में चीनियों द्वारा घुसपैठ की गई थी, क्योंकि उस जमीन को भारत अपना मानता है और चीन अपना मानता है, यह अत्यंत दुखद है.’’

"केरल के लोग यह जानना चाहते हैं कि क्या आपकी पार्टी अब भी उसी नीति पर कायम"
चेन्नीतला ने दावा किया कि 2018 में अलप्पुझा में माकपा पार्टी सम्मेलन में पार्टी के केरल सचिव के. बालाकृष्णन ने कहा था कि भारत, जापान, आस्ट्रेलिया और अमेरिका मिलकर चीन पर चारों ओर से हमले कर रहे हैं.
चेन्नीतला ने सवाल किया, ‘‘केरल के लोग यह जानना चाहते हैं कि क्या आपकी पार्टी अब भी उसी नीति पर कायम है?’’



यह भी पढ़ें: चीन को करारा जवाब देने के लिए भारत सरकार ने चीनी सामान के आयात पर कसा शिकंजा

उन्होंने कहा, ‘‘चूंकि माकपा केरल (Kerala) पर शासन कर रही है, आपकी पार्टी का दायित्व है कि वह भारत की एकता, संप्रभुता, अखंडता को बनाए रखे. चीन की घुसपैठ पर आपका रुख सार्वजनिक करना आपका उत्तरदायित्व है.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज