रेल मंत्रालय का बड़ा कदम, भ्रष्ट अधिकारियों की होगी छंटनी

रेल मंत्री ने कहा है पीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने सभी विभागों में पारदर्शिता को बनाए रखने के लिए कई कदम उठाए हैं.

News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 7:07 AM IST
रेल मंत्रालय का बड़ा कदम, भ्रष्ट अधिकारियों की होगी छंटनी
रेलमंत्री पीयूष गोयल ने यह बात लंदन के एक कार्यक्रम में कही है (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 7:07 AM IST
रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि रेल मंत्रालय में भ्रष्टाचार विरोधी कार्यक्रम के तहत सभी अधिकारियों की प्रोफाइल की जांच की जाएगी. गोयल, अभी तीन दिनों की ब्रिटेन यात्रा पर हैं उन्होंने ब्रिटेन में भारतीयों से बात करते हुए रविवार को कहा कि नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने पारदर्शिता को सभी विभागों में कायम रखने के लिए कई सारे जरूरी कदम उठाए हैं. भ्रष्टाचार के खिलाफ सफाई अभियान पूरे देश में चलाया जा रहा है.

गोयल ने इंडिया इंक के साथ 'फायरसाइड चैट' नाम के एक प्रोग्राम में कहा, 'कई सारे विभागों के ऐसे अफसरों के खिलाफ कार्रवाई हुई है, जिनमें ईमानदारी की कमी देखी गई.'

कई लोगों के खिलाफ की जा चुकी है कार्रवाई
भारतीय उच्चायोग और इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) के आयोजित किए कार्यक्रम में गोयल ने कहा, अलग-अलग विभागों में कई भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है. भ्रष्टाचार मुक्त भारत के लक्ष्य को हासिल करने से जुड़ा एक सवाल के जवाब में गोयल ने कहा, जिन राज्यों में हम सरकार में हैं, वहां हम बदलाव की कोशिश कर रहे हैं.

अफसरों पर भी प्रदर्शन का होगा दबाव
बैंकिंग क्षेत्र को भ्रष्टाचार मुक्त बनाया जा रहा है. ज्यादा से ज्यादा पारदर्शिता लाई जा रही है ताकि लोगों को यह अहसास हो कि अब जानकारियां सार्वजनिक हैं और अगर हम अच्छा प्रदर्शन नहीं करेंगे तो बाहर कर दिए जाएंगे. ऐसे में सरकारी अफसरों पर भी दबाव रहेगा कि वे अपने प्रदर्शन को अच्छा रखें.

भारतीय हितों की कीमत पर नहीं होगा कोई भी व्यापार समझौता
Loading...

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय का भी कामकाज संभाल रहे गोयल ने कहा, बीते वर्षों में हमने सभी अच्छे समझौते नहीं किए हैं, लिहाजा उनमें से कुछ अब हमें परेशान कर रहे हैं. अब ऐसा कोई व्यापार समझौता नहीं करेंगे, जो भारतीय हितों की कीमत पर हो. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने हाल ही में पेश बजट को उन्होंने सही मायनों में भारत को 2024-25 तक पांच लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का रोडमैप बताया है. आशा है कि इससे सरकारी कामकाज में सुधार आएगा.

यह भी पढ़ें: अगले महीने से इस रूट पर दौड़ेगी वंदेभारत एक्सप्रेस
First published: July 16, 2019, 6:34 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...