लाइव टीवी

CDS ने कहा- वायुसेना में होगा Made In India तेजस, IAF चीफ ने कहा- 114 विदेशी लड़ाकू विमानों की होगी खरीद

News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 1:04 PM IST
CDS ने कहा- वायुसेना में होगा Made In India तेजस, IAF चीफ ने कहा- 114 विदेशी लड़ाकू विमानों की होगी खरीद
वायुसेना चीफ आरकेएस भदौरिया (Air Chief Marshal RKS Bhadauria) ने सोमवार को कहा कि भारतीय वायुसेना द्वारा शामिल किए जाने वाले विमानों की सूची में 36 राफेल, 114 मल्टीरोल लड़ाकू विमान, 100 एडवांस मीडियम लड़ाकू विमान (एएमसीए) और 200 से अधिक एलसीए शामिल हैं.

वायुसेना चीफ आरकेएस भदौरिया (Air Chief Marshal RKS Bhadauria) ने सोमवार को कहा कि भारतीय वायुसेना द्वारा शामिल किए जाने वाले विमानों की सूची में 36 राफेल, 114 मल्टीरोल लड़ाकू विमान, 100 एडवांस मीडियम लड़ाकू विमान (एएमसीए) और 200 से अधिक एलसीए शामिल हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. चीफ डिफेंस ऑफ स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) की ओर से यह कहे जाने के बाद कि भारतीय वायुसेना, भारत में ही बनाए गए लाइट कॉम्बैट एयर क्राफ्ट तेजस को लिए जाने की योजना बना रहा है, वायुसेना चीफ आरकेएस भदौरिया (Air Chief Marshal RKS Bhadauria) ने उनका विरोध किया है. भदौरिया ने कहा कि भारतीय वायुसेना द्वारा शामिल किए जाने वाले विमानों की सूची में 36 राफेल, 114 मल्टीरोल लड़ाकू विमान, 100 उन्नत मध्यम लड़ाकू विमान (एएमसीए) और 200 से अधिक एलसीए शामिल हैं. ब्लूमबर्ग ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत के हवाले से कहा था कि भारतीय वायु सेना (IAF) के पुराने बेड़े को बदलने के लिए, हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) से 83 और जेट्स खरीदे जाएंगे.

उन्होंने कहा कि 40 विमान खरीदने के लिए पहले सौदे के अलावा 6 बिलियन डॉलर का खर्च आएगा. रावत ने कहा कि भारतीय वायुसेना में एलसीए को शामिल करने से अपेक्षाकृत कम कीमतों के कारण भारत को एक महत्वपूर्ण रक्षा निर्यातक के रूप में स्थापित करने में मदद मिलेगी. सीडीएस ने कहा, 'भले ही शुरुआत में कुछ गुणवत्ता के मुद्दे होंगे लेकिन यह कदम स्थानीय स्तर पर निर्मित हथियारों का उपयोग शुरू करने के लिए भारत के लिए मील का पत्थर साबित होगा.'

450 लड़ाकू विमानों में 36 राफेल भी शामिल 
वहीं समाचार एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्‍यू में भारतीय वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने कहा, 'अगले 15 साल में 83 हल्‍के लड़ाकू विमान हमारी प्राथमिकता में हैं. उसके बाद एलसीए मार्क 2 आ जाएंगे. हम ऐसे करीब 100 विमानों पर फोकस कर रहे हैं. इन सबको मिलाकर यह 200 हो जाएंगे.'



वायुसेना प्रमुख के मुताबिक इन 450 लड़ाकू विमानों को भविष्‍य की जरूरतों को देखते हुए अगले 35 साल के अंदर वायुसेना में शामिल किए जाने की योजना है. वायुसेना प्रमुख ने इन विमानों को स्‍वदेशी तकनीक से बनाए जाने की संभावनाओं पर प्रतिक्रिया देते हुए कंपनियों से आगे आने को कहा है.



भारतीय वायुसेना की ओर से खरीदे जा रहे इन 450 लड़ाकू विमानों में 36 राफेल, 114 मल्‍टीरोल फाइटर एयरक्राफ्ट, 100 एडवांस्‍ड मीडियम कॉम्‍बैट एयरक्राफ्ट (एएमसीए) और 200 से अधिक प्रकार के हल्‍के लड़ाकू विमान (LCA) शामिल हैं.

यह भी पढ़ें:- पाकिस्‍तान-चीन की आएगी शामत, उत्‍तर और पश्चिम सीमा क्षेत्र में 450 लड़ाकू विमान तैनात करेगी वायुसेना
First published: May 20, 2020, 12:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading