कोविड-19 मरीजों का इलाज करने के लिए ओडिशा में प्लाज्मा थेरेपी शुरू

कोविड-19 मरीजों का इलाज करने के लिए ओडिशा में प्लाज्मा थेरेपी शुरू
ओडिशा में कोरोना वायरस (Covid-19) के मरीजों की जान बचाने के लिए प्लाज्मा थेरेपी (Plasma Therapy) का इस्तेमाल शुरू हो गया है

प्लाज्मा थेरेपी (Plasama Therapy) में कोरोना वायरस (Coronavirus) से स्वस्थ हो चुके मरीज के रक्त से एंटीबॉडी (AntiBody) ली जाती हैं और उनका इस्तेमाल संक्रमित व्यक्ति के इलाज के लिए किया जाता है.

  • Share this:
भुवनेश्वर. ओडिशा सरकार (Odisha Government) ने कटक (Cuttack) के एक अस्पताल में कोविड-19 (Covid-19) मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा थेरेपी (Plasama Therapy) का इस्तेमाल गुरुवार से शुरू किया. स्वास्थ्य विभाग के तकनीकी सलाहकार डॉक्टर जयंत पांडा ने कहा कि यह प्रक्रिया राज्य में पहली बार अश्विनी अस्पताल (Ashwini Hospital) में भर्ती 48 वर्षीय एक मरीज पर की गई. उन्होंने कहा, ‘‘ मरीज पर बी-पॉजिटिव प्लाज्मा का इस्तेमाल किया गया.’’ राज्य सरकार ने इससे पहले घोषणा की थी कि प्लाज्मा थेरेपी का इस्तेमाल अब एसयूएम अस्पताल और कलिंग चिकित्सा विज्ञान संस्थान, भुवनेश्वर (Bhubneshwar) में भी होगा.

प्लाज्मा थेरेपी में कोरोना वायरस (Coronavirus) से स्वस्थ हो चुके मरीज के रक्त से एंटीबॉडी (AntiBody) ली जाती हैं और उनका इस्तेमाल संक्रमित व्यक्ति के इलाज के लिए किया जाता है. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि कटक में बुधवार को एससीबी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एक प्लाज्मा बैंक ने काम करना शुरू कर दिया. उन्होंने बताया कि कोविड-19 से स्वस्थ हो चुके एक डॉक्टर समेत चार लोगों ने अपना प्लाज्मा यहां दान दिया. सूत्रों के मुताबिक, इस बीमारी से स्वस्थ हो चुके 300 और लोग प्लाज्मा दान करने के लिए आगे आए हैं, जिनमें बीजद के सालीपुर विधानसभा सीट से विधायक प्रशांत बेहरा भी शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- देश में कोरोना का नया रिकॉर्ड, एक दिन में 32000 से अधिक केस, 606 लोगों की मौत



सीएम पटनायक ने लोगों से की थी प्लाज्मा दान करने की अपील
मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (CM Navin Patnaik) ने बुधवार को स्वस्थ हुए लोगों से अपील की थी कि वे नाजुक हालत वाले मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा दान करें. प्लाज्मा थेरेपी लोगों को नि:शुल्क उपलब्ध होगी. एक अधिकारी ने बताया कि इसी बीच भाजपा के नीलगिरि सीट से विधायक सुकांत कुमार नायक भी कोविड-19 से स्वस्थ हो गए हैं.

गौरतलब है कि ओडिशा में गुरुवार को 494 लोगों के नमूनों की जांच में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई और दो मरीजों की मौत हो गई, जिसके बाद संक्रमण के मामलों की कुल संख्या 15,000 से अधिक हो गई है. एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि महामारी से राज्य में अब तक 79 मरीजों की मौत हो चुकी है. उन्होंने कहा कि 23 जिलों से संक्रमण के नए मामले सामने आए जिसके बाद राज्य में कुल मामलों की संख्या 15,392 हो गई. अधिकारी ने कहा कि 494 मामलों में से 322 मामले पृथक-वास केंद्रों से आए और 172 लोग संक्रमित लोगों के संपर्क में आने से बीमार हुए.

ये भी पढ़ें- कोरोना वायरस की चपेट में आसानी से कैसे जा जाते हैं कुछ लोग,शोधकर्ताओं ने बताया

गंजाम से आए सबसे ज्यादा मामले
राज्य के सर्वाधिक प्रभावित जिले गंजाम से 246 मामले सामने आए जिसके बाद जिले में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 4,867 हो गई है. इसके अलावा खुर्दा से 64, कटक से 38 और बालासोर से 21 मामले सामने आए. स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी एक वक्तव्य के अनुसार गंजम जिले में कोविड-19 से दो मरीजों की मौत हो गई. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार कोरोना वायरस से संक्रमित 24 लोगों की मौत अन्य बीमारियों के कारण हुई.

राज्य में अभी कोविड-19 के 4,813 मरीजों का इलाज चल रहा है और 10,476 मरीज बीमारी से ठीक हो चुके हैं. अधिकारी ने कहा कि अभी तक कुल 3,61,920 नमूनों की कोविड-19 की जांच हो चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading