Assembly Banner 2021

PLI Scheme: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले- विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए गति बढ़ाने की जरूरत

PLI Scheme योजना पर पीएम ने कहा कि  6,000 के करीब अनुपालनों को कम करने के प्रयास जारी है.

PLI Scheme योजना पर पीएम ने कहा कि 6,000 के करीब अनुपालनों को कम करने के प्रयास जारी है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कपड़ा और खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में पीएलआई योजना शुरू होने से समूचे कृषि क्षेत्र को मदद मिलेगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कहा है कि विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए गति और पैमाना बढ़ाने की जरूरत है. पीएम ने यह बात पीएलआई योजना की शुरुआत के दौरान एक कार्यक्रम में कही. पीएम ने कहा कि विनिर्माण क्षमता बढ़ाएं, रोजगार के अवसर बढ़ाएं, सरकार ने विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए सुधार उपाय किये हैं. मोदी ने घरेलू उद्यमियों से कहा कि हमें अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप गुणवत्ता, क्षमता और उत्पादन लागत लाने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है.

प्रधानमंत्री ने घरेलू क्षेत्र में विनिर्माण को बढ़वा देने के उपायों पर कहा, 'हमारा प्रयास उद्योगों से 6,000 अनुपालन बोझ को कम करने का रहा है.' मोदी ने कहा कि उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना का मकसद घरेलू विनिर्माण क्षेत्र का विस्तार करना और निर्यात को बढ़ावा देना है.

पीएलआई योजना के लिS करीब दो लाख करोड़ रुपये का प्रावधान 
प्रधानमंत्री ने कहा कि वाहन, दवा जैसे 13 उद्योग क्षेत्रों को उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना का लाभ मिलेगा. उन्होंने कहा कि कपड़ा और खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में पीएलआई योजना शुरू होने से समूचे कृषि क्षेत्र को मदद मिलेगी.
मोदी ने घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने के मुद्दे पर कहा कि पीएलआई योजना के लिS करीब दो लाख करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि वाहन क्षेत्र से लेकर दूरसंचार और औषधि उद्योग में विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना है. प्रधानमंत्री ने उद्योगों से कहा, 'उत्पादों का भारत के लिए, दुनिया के लिए विनिर्माण करें.'



समूचे कृषि क्षेत्र को फायदा होगा- पीएम
उन्होंने कहा कि सरकार घरेलू स्तर पर उत्पादों के विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठा रही है. उद्योगों के अनुपालन बोझ को कम किया जा रहा है. ऐसे 6,000 के करीब अनुपालनों को कम करने के प्रयास किये जा रहे हैं.

मोदी ने कहा कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योग और कपड़ा क्षेत्र में पीएलआई योजना शुरू होने से समूचे कृषि क्षेत्र को फायदा होगा. उन्होंने उद्योगों से कहा कि वह उत्पादन में तेजी लाएं और रोजगार के अवसर बढ़ाएं. उन्होंने कहा कि उत्पादन लागत कम करने, वैश्विक स्तर की गुणवत्ता और प्रतिस्पर्धा में आगे बढ़ने के लिए सभी को मिलकर काम करना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज