Home /News /nation /

नए CBI डायरेक्टर के नाम पीएम मोदी की अगुवाई वाली कमेटी 24 को करेगी फैसला

नए CBI डायरेक्टर के नाम पीएम मोदी की अगुवाई वाली कमेटी 24 को करेगी फैसला

सीबीआई हेडक्वार्टर (फ़ाइल फोटो)

सीबीआई हेडक्वार्टर (फ़ाइल फोटो)

पिछले दिनों आलोक वर्मा पर भ्रष्टाचार का आरोप लगने के बाद सेलेक्शन पैनल ने उन्हें सीबीआई के डायरेक्टर के पद से हटा दिया था.

    सीबीआई के नए डायरेक्टर के चयन को लेकर सेलेक्शन पैनल की बैठक 24 जनवरी को होगी. इस पैनल का नेतृत्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे. पिछले दिनों आलोक वर्मा पर भ्रष्टाचार का आरोप लगने के बाद सेलेक्शन पैनल ने उन्हें डायरेक्टर के पद से हटा दिया था.

    आलोक वर्मा को डायरेक्टर के पद से हटाने के बाद एम नागेश्वर राव को अंतरिम जिम्मेदारी दी गई. लेकिन उनकी नियुक्ति को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है.

    केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ दायर याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार लिया है. 'कॉमन कॉज़' नामक एनजीओ की याचिका पर शीर्ष अदालत अगले हफ्ते सुनवाई करेगा. सीजेआई रंजन गोगोई, जस्टिस एनएल राव और जस्टिस एसके कौल की पीठ के सामने बुधवार को इस मामले को रखा गया.



    कौन है नए CBI डायरेक्टर की रेस में?

    परंपरा के मुताबिक, सीबीआई डायरेक्टर के रिटायर होने के एक महीने पहले से ही उनके उत्तराधिकारी की तलाश शुरू कर दी जाती है. सूत्रों की मानें, तो मुख्य सतर्कता आयुक्त (CVC) ने 10 अधिकारियों का एक पैनल तैयार किया है, जिसमें 1983, 1984, 1985 बैच के अधिकारी शामिल हैं.

    लिस्ट में नीरा मित्रा के अलावा उत्तर प्रदेश कैडर के 1983 के आईपीएस अधिकारी राजीव राय भटनागर का नाम भी शामिल हैं. भटनागर इस समय सीआरपीएफ के डायरेक्टर जनरल हैं. उत्तर प्रदेश कैडर के 1984 बैच के अधिकारी रजनीकांत मिश्रा भी सीवीसी की लिस्ट में जगह बनाने में कामयाब हुए हैं. मिश्रा इस समय बीएसएफ के डायरेक्टर  जनरल की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं. 1984 बैच के असम-मेघालय कैडर के वाईसी मोदी का नाम भी सीबीआई डायरेक्टर की लिस्ट में शामिल है.

    सूत्रों की मानें तो सीबीआई डायरेक्टर के लिए अंतिम फैसला रीना मित्रा और वाईसी मोदी के बीच हो सकता है. मोदी प्रधानमंत्री कैंप के अधिकारी माने जाते हैं. उन्हें इससे पहले सीबीआई में 10 साल काम करने का अनुभव है. वाईसी मोदी 2002 में गुजरात दंगों की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई टीम में भी थे, लेकिन 1984 बैच का होना ही उनकी कमजोर कड़ी मानी जा रही है.

    ये भी पढ़ें: कर्नाटक में गठबंधन की सरकार गिरने पर BJP पेश करेगी दावा: सदानंद गौड़ा

    कंप्यूटर यूजर्स के लिए बुरी खबर, माइक्रोसॉफ्ट ने Windows 7 को लेकर लिया बड़ा फैसला

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Alok verma, CBI, CVC, Narendra modi

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर