• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • PM MADE APPEAL TO THE PEOPLE OF THE COUNTRY ON THE RUMORS FLYING ON CORONA VACCINE

PM Modi Speech: वैक्सीन पर उड़ रही अफवाहों पर पीएम ने देश के लोगों से की यह अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को मुफ्त वैक्‍सीन लगाने का ऐलान किया.

PM Narendra Modi Address To the Nation: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, जब से टीकाकरण की शुरुआत हुई तभी से आम लोगों में शंका पैदा करने की कोशिश की जा रही है. भारत की वैक्सीन को अनेक माध्यमों से शंका को और बढ़ाया गया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi Address to the Nation) ने आज देश को संबोधित किया. अपने संबोधन में वैक्सीन (Corona Vaccine) को लेकर बड़ा ऐलान करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 21 जून से देश में 18 साल से अधिक उम्र वाले सभी लोगों को भारत सरकार द्वारा मुफ्त वैक्सीन लगाई जाएगी. पीएम मोदी ने ऐलान किया कि राज्यों से वैक्सीनेशन का काम वापस लिया जाएगा और अब केंद्र सरकार ही ये काम करेगी.

    अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने वैक्सीनेशन को लेकर अफवाह फैलाने वालों पर निशाना साधा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, जब से टीकाकरण की शुरुआत हुई तभी से आम लोगों में शंका पैदा करने की कोशिश की जा रही है. भारत की वैक्सीन को अनेक माध्यमों से शंका को और बढ़ाया गया है. वैक्सीन न लगवाने के लिए अलग-अलग तर्क प्रचारित किए गए. जो लोग वैक्सीन को लेकर आशंका पैदा कर रहे हैं, अफवाहें फैला रहे हैं. वो भोले-भाले भाई बहनों के जीवन के साथ बहुत अन्याय पैदा कर रहे हैं.



    अफवाहों से सतर्क रहने की जरूरत
    प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'ऐसी अफवाहों से सतर्क रहने की जरूरत है. आप सबसे मैं अनुरोध करता हूं कि आप भी वैक्सीन को लेकर जागरूकता बढ़ाने में सहयोग करें. अभी कई जगहों पर कोरोना कर्फ्यू में ढील दी जा रही है. इसका ये मतलब नहीं कि हमारे बीच से कोरोना चला गया, हमें सावधान भी रहना है और कोरोना से बचाव के नियमों का सख्ती से पालन करते रहना है. मुझे पूरा विश्वास है कि हम सब कोरोना से इस जंग में जीतेंगे. भारत कोरोना से जीतेगा.'

    पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ सबसे कारगर हथियार कोविड के प्रोटोकॉल हैं और वैक्सीन सुरक्षा कवच हैं. पीएम मोदी ने दुनिया के कई देशों में वैक्सीन की मांग ज्यादा है और वैक्सीन बनाने की कंपनी कम हैं. भारत के पास अगर अपनी वैक्सीन ना होती तो हाल कुछ और होता, पिछले 50-60 साल का इतिहास यही कहता है कि हमारे यहां दुनिया में वैक्सीन आने के कई दिनों बाद टीका आता था.