India-EU Summit: PM मोदी बोले- कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत ने 150 देशों को भेजी दवाई

India-EU Summit: PM मोदी बोले- कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत ने 150 देशों को भेजी दवाई
फोटो साभारः ANI

कोरोना महामारी के बीच वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने भारत-ईयू शिखर सम्मेलन को संबोधित किया. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, मार्च में कोरोना की वजह से हमें भारत और यूरोपीय संघ (ईयू) की बैठक को स्थगित करना पड़ा था.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने बुधवार को भारत-ईयू शिखर सम्मेलन (India-EU Summit) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, मार्च में कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से हमें भारत और यूरोपीय संघ (ईयू) सम्मेलन को स्थगित करना पड़ा था. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'ईयू और भारत दोनों ही नेचुरल पार्टनर है. हमारी साझेदारी विश्व की शांति और स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण है. यह वास्तविकता आज वैश्विक स्थिति में और भी स्पष्ट हो गई है.'

प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन की खास बातें...

- कोरोना महामारी से जूझ रही दुनिया के बीच पीएम मोदी ने कहा कि हमने अब तक करीब 150 देशों को दवाएं भेजी हैं. हमारे क्षेत्र में कोविड-19 के खिलाफ संयुक्त अभियान के लिए हमने कदम उठाए है.



- हम यूरोपीय संघ और उसके देशों द्वारा उठाए गए 'COVID- 19 उपकरणों तक पहुंच में तेजी लाने' की पहल को आमंत्रित करते हैं. भारत की फार्मा कंपनियां इस वैश्विक प्रयास में योगदान करने के लिए तैयार हैं.
- आज हमारे नागरिकों की सेहत और समृद्धि, दोनों ही चुनौतियों का सामना कर रहें हैं. ऐसे में भारत-ईयू पार्टनरशिप  आर्थिक पुनर्निर्माण में और एक मानव-केंद्रित और मानवता-केंद्रित ग्लोबलाइजेशन के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है.

- भारत, यूरोपीय संघ लोकतंत्र, बहुलवाद, समावेशिता, बहुपक्षवाद, स्वतंत्रता और पारदर्शिता जैसे सार्वभौमिक मूल्यों को साझा करते हैं.

- वर्तमान चुनौतियों के अलावा, जलवायु परिवर्तन जैसी दीर्घकालिक चुनौतियां भी भारत और यूरोपीय संघ के लिए प्राथमिकता हैं. भारत में नवीकरणीय ऊर्जा के उपयोग को बढ़ाने के हमारी कोशिशों में हम यूरोप से निवेश और प्रौद्योगिकी को आमंत्रित करते हैं.

- भारत में नवीकरणीय ऊर्जा के उपयोग को बढ़ाने के हमारी कोशिशों में हम यूरोप से निवेश और प्रौद्योगिकी को आमंत्रित करते हैं.



इस समिट को संबोधित करते हुए यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल ने कहा, मैं आपके देश द्वारा यूरोपीय संघ के साथ दिखाए गए सहयोग के लिए भारत को धन्यवाद देना चाहता हूं.


असैन्य परमाणु सहयोग समझौते पर हुए हस्ताक्षर
सम्मेलन से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि इस वार्ता से यूरोप के साथ देश के आर्थिक एवं सांस्कृतिक संबंध और मजबूत होंगे. भारत और यूरोपीय संघ (ईयू) ने 13 साल की वार्ता के बाद एक असैन्य परमाणु सहयोग समझौते पर मंगलवार को हस्ताक्षर किए. दोनों पक्षों ने बुधवार को होने वाले डिजिटल शिखर सम्मेलन से एक दिन पहले समझौते पर हस्ताक्षर किए. सम्मेलन का उद्देश्य व्यापार, निवेश और रक्षा सहित विभिन्न क्षेत्रों में व्यापक संबंधों को बढ़ावा देना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading