अपना शहर चुनें

States

PM मोदी बोले- हम कोरोना वैक्सीन पाने की दहलीज़ पर हैं, 8 टीकों पर तेजी से हो रहा काम

कोरोना संकट पर पीएम मोदी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी.
कोरोना संकट पर पीएम मोदी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी.

All-party meeting on December 4: सर्वदलीय बैठक के बाद पीएम मोदी ने कहा, 'अभी आठ ऐसी वैक्सीन हैं, जो ट्रायल के चरण में बनी हुई हैं. ऐसी उम्मीद है कि अगले कुछ हफ्तों में वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर मिलेगी, वैज्ञानिकों की ओर से मंजूरी मिलते ही इसपर काम शुरू हो जाएगा.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 4, 2020, 2:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Corona Virus) का एक बार फिर बेकाबू हो रहा है. लगातार कई राज्यों से कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के फैलने की खबरें आ रही हैं. इस बीच सरकार ने कोरोना के मुद्दे पर आज ऑल पार्टी मीटिंग (सर्वदलीय बैठक) बुलाई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) इसमें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए. मीटिंग में पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना की वैक्सीन के लिए अब अब ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा. हम वैक्सीन पाने की दहलीज पर हैं. कुछ हफ्तों में टीका तैयार होगा.' वैक्सीन कंपनियों से चर्चा के बाद मोदी की यह पहली अहम बैठक है.

वैक्सीन वितरण में जनहित का रखेंगे ध्यान
पीएम मोदी ने संकेत दिए कि कोरोना की वैक्सीन पहले बुजुर्गों, कोरोना वॉरियर्स को मिल सकती है. सर्वदलीय बैठक के बाद पीएम मोदी ने कहा, 'अभी आठ ऐसी वैक्सीन हैं, जो ट्रायल के चरण में बनी हुई हैं. ऐसी उम्मीद है कि अगले कुछ हफ्तों में वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर मिलेगी, वैज्ञानिकों की ओर से मंजूरी मिलते ही इसपर काम शुरू हो जाएगा.' प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत एक विशेष सॉफ्टवेयर पर काम कर रहा है जो हर किसी को वैक्सीन पहुंचाने पर ट्रैकिंग करेगा.

राज्यों से मीटिंग के बाद वैक्सीन की कीमत होगी तय
पीएम ने कहा, 'सरकार बड़े स्तर पर वैक्सीन वितरण को लेकर काम कर रही है, जो राज्य सरकार की मदद से जमीन पर उतारा जाएगा. सरकार ने एक नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप बनाया है, जिसकी सिफारिश के अनुसार से ही काम होगा. वैक्सीन की कीमत क्या होगी, इसपर केंद्र और राज्य मिलकर फैसला लेंगे.'



मोदी ने वैक्सीन कंपनियों से कहा- लोगों को आसान शब्दों में समझाएं
मोदी कोरोना की स्थिति के साथ ही वैक्सीन डेवलपमेंट पर भी लगातार नजर बनाए हुए हैं. उन्होंने 30 नवंबर को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जेनोवा बायोफार्मा, बायोलॉजिकल ई और डॉ. रेड्डीज की टीमों से चर्चा की. प्रधानमंत्री ने इन्हें सलाह दी कि आम लोगों को वैक्सीन के असर जैसी बातों के बारे में आसान शब्दों में समझाने के लिए एक्स्ट्रा एफर्ट करें.

सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी के अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath singh), गृह मंत्री अमित शाह (Amit shah), स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन बैठक में मौजूद रहे.

महामारी के बीच दूसरी बार सर्वदलीय बैठक
कोविड-19 महामारी शुरू होने के बाद से यह दूसरी बार है जब सरकार ने कोरोना वायरस से उत्पन्न हालात पर चर्चा के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई है. संसद के शीतकालीन सत्र के आयोजन पर चर्चा हो सकती है, जो कि बजट सत्र के साथ जोड़ा जा सकता है,जो आमतौर पर जनवरी के अंतिम सप्ताह में शुरू होता है. कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने गुरुवार को मांग की कृषि सुधार कानूनों, चीनी आक्रमण और कोविड -19 संकट के खिलाफ चल रहे किसानों के विरोध जैसे देश में विभिन्न दबाव वाले मुद्दों पर बहस करने के लिए संसद का शीतकालीन सत्र जल्द से जल्द आयोजित किया जाए.



कुछ ही दिन पहले पीएम ने किया वैक्सीन कंपनी का दौरा
यह बैठक इस मायने में भी महत्वपूर्ण है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अहमदाबाद, हैदराबाद और पुणे की दवा कंपनियों का दौरा कर कोविड-19 टीके के विकास के लिए हो रहे कार्य की समीक्षा के बाद सरकार ने यह बैठक बुलाई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज