Assembly Banner 2021

गीता प्रेस के अध्यक्ष राधेश्याम खेमका का निधन, PM मोदी और अमित शाह ने दी श्रद्धांजलि

राधेश्याम खेमका पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे और रविन्द्रपुरी स्थित एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

राधेश्याम खेमका पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे और रविन्द्रपुरी स्थित एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

खेमका ने निधन पर प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, 'गीता प्रेस के अध्यक्ष और सनातन साहित्य को जन-जन तक पहुंचाने वाले राधेश्याम खेमका जी के निधन से अत्यंत दुख हुआ है.'

  • Share this:
नई दिल्ली. गीता प्रेस के अध्यक्ष और धार्मिक पत्रिका कल्याण के संपादक राधेश्याम खेमका (Radheshyam khemka ) का शनिवार दोपहर को निधन हो गया. वह 87 वर्ष के थे. खेमका काफी समय से बीमार चल रहे थे. खेमका के निधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री समेत कई दिग्गजों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की.

खेमका ने निधन पर प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, 'गीता प्रेस के अध्यक्ष और सनातन साहित्य को जन-जन तक पहुंचाने वाले राधेश्याम खेमका जी के निधन से अत्यंत दुख हुआ है. खेमका जी जीवनपर्यंत विभिन्न सामाजिक कार्यों में सक्रिय रहे. शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और प्रशंसकों के साथ हैं. ओम शांति!'

अमित शाह ने भी किया ट्वीट
वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, 'गीता प्रेस के अध्यक्ष श्री राधेश्याम खेमका जी के निधन से अत्यंत दुःखी हूं. खेमका जी ने जीवनभर सनातन संस्कृति के संवाहक बनकर भारत की प्राचीन परम्परा को दुनियाभर में पहुंचाने का काम किया. मैं उनके परिजनों व शुभचिंतकों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूँ. ॐ शांति शांति शांति.'



जानिए राधेश्याम खेमका के बारे में...
बता दें कि राधेश्याम खेमका ने 40 वर्षों से गीता प्रेस में अपनी भूमिका का निर्वहन कर अनेक धार्मिक पत्रिकाओं का संपादन किया. उनके पिता सीताराम खेमका मूलरूप से बिहार के मुंगेर जिले से आए थे. वह मारवाड़ी सेवा संघ, मुमुक्षु भवन, श्रीराम लक्ष्मी मारवाड़ी अस्पताल गोदौलिया, बिड़ला अस्पताल मछोदरी, काशी गोशाला ट्रस्ट से जुड़े रहे. वह कागज व्यवसाय से भी जुड़े थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज