लाइव टीवी

जब पीएम मोदी ने सोशल मीडिया के जरिए बचाईं सैकड़ों जानें

News18Hindi
Updated: September 25, 2019, 7:30 PM IST
जब पीएम मोदी ने सोशल मीडिया के जरिए बचाईं सैकड़ों जानें
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ब्लूमबर्ग ग्लोबल बिजनेस फोरम में कई सारे सवालों का जवाब दिया (फाइल फोटो)

ब्लूमबर्ग ग्लोबल बिजनेस फोरम (Bloomberg Global Business Forum) में बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने हिस्सा लिया और भारत और दुनिया की अर्थव्यवस्था (Economy) के भविष्य से जुड़े कई सवालों का जवाब दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2019, 7:30 PM IST
  • Share this:
न्यूयॉर्क. ब्लूमबर्ग ग्लोबल बिजनेस फोरम (Bloomberg Global Business Forum) में बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने हिस्सा लिया और भारत और दुनिया की अर्थव्यवस्था (Economy) के भविष्य से जुड़े कई सवालों का जवाब दिया. इस दौरान उनसे सोशल मीडिया (Social Media) की भूमिका के बारे में भी सवाल पूछा गया.

सोशल मीडिया (Social Media) पर पूछे गए इस सवाल का जवाब प्रधानमंत्री मोदी ने कंधार विमान हाईजैकिंग (Kandahar Plane Hijack) के उदाहरण के जरिए दिया.

कंधार हाईजैकिंग के जरिए समझाया मीडिया का प्रभाव
सोशल मीडिया से जुड़े एक सवाल का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने मीडिया के प्रभाव को कंधार हाईजैकिंग (Kandahar Plane Hijack) के जरिए समझाया. प्रधानमंत्री ने कहा कि जब यह घटना हुई उस समय नया-नया इलेक्ट्रॉनिक मीडिया था. उन्होंने कहा कि मीडिया ने इस हाईजैकिंग में बंधक बनाए गए लोगों की कहानी को बहुत बढ़ाया-चढ़ाया. इसके चलते आतंकियों के हौसले बढ़े और सरकार पर आतंकियों की मांगें मानने का दबाव बढ़ा. हालांकि उन्होंने कहा कि अब मीडिया में बहुत सुधार आया है.

उन्होंने इस दौरान एक खुलासा यह भी किया कि इस घटना के बाद बाकायदा एक मीटिंग हुई, जिसमें भारत ने अपनी गलतियों की समीक्षा की.

पीएम ने कहा मीडिया शुरू करे फैक्ट चेकिंग के डेली प्रोग्राम
प्रधानमंत्री ने कहा कि माना मीडिया में कॉम्पीटशन के माहौल में जल्दी और चटपटी ख़बरें देने का कॉम्पटीशन भी बढ़ा है. लेकिन फिर भी फेक न्यूज (Fake News) लोगों को बुरी तरह से प्रभावित न कर सकें, ऐसे में 15 मिनट से आधा घंटे का डेली कार्यक्रम मीडिया को शुरू करना चाहिए.प्रधानमंत्री ने मीडिया के लिए भी कहा कि अगर कोई ख़बर आए तो वैरिफिकेशन की प्रक्रिया होनी चाहिए.

पीएम ने शेयर की अपनी पुरानी याद
पीएम मोदी ने कहा, "मैं सोशल मीडिया (Social Media) पर लंबे वक्त से सक्रिय रहा हूं और मुझे इसके फायदे भी मिले हैं. अगर ऐसे में मुझे दूर दराज के गांव की कोई घटना पता चलती है तो मैं उस पर बयान देने की बजाए अपनी सरकार को उस मुद्दे पर एक्शन में लाता हूं."

इसके बाद पीएम ने दशकों पहले से अपने सफल सोशल मीडिया के सफल प्रयोग का एक उदाहरण भी दिया. उन्होंने बताया कि एक बार जब उनके राज्य में बाढ़ (Flood) आई तो उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए इसके प्रति जागरुकता के मैसेज लोगों को दिए. पीएम ने बताया कि उस वक्त देसी भाषाओं में मैसेज की सुविधा उतनी नहीं थी, ऐसे में उन्होंने रोमन में लिखकर लोगों को अपने मैसेज दिए और इसका अच्छा प्रभाव पड़ा. पीएम ने बताया, इससे बहुत से पशुओं और लोगों को मरने से बचाया जा सका.

यह भी पढ़ें: 'फादर ऑफ इंडिया': खुद को भारतीय नहीं मानने वाला ही ट्रंप की इस बात पर गर्व नहीं करेगा- जितेंद्र सिंह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 25, 2019, 7:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर