अपना शहर चुनें

States

बिप्लब के 'बेतुके बोल' से नाराज़ मोदी और शाह, तलब किए गए दिल्ली!

त्रिपुरा सीएम बिप्लब देब की फाइल फोटो (PTI)
त्रिपुरा सीएम बिप्लब देब की फाइल फोटो (PTI)

बीजेपी नेता ने कहा, "पार्टी के वरिष्ठ नेता देब के बयानों से पैदा हुए विवाद से नाराज हैं. देब कुछ भी बोलते जा रहे हैं. मोदी उनसे बात करेंगे."

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2018, 11:25 PM IST
  • Share this:
त्रिपुरा के नए-नवेले मुख्यमंत्री बिप्लब देव पिछले कुछ दिनों से अपने बेतुके बयानों को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं. पहले उन्होंने महाभारत में इंटरनेट को लेकर बयान दिया, उसके बाद डायना हेडन को लेकर विवादास्पद टिप्पणी की. अब उन्होंने सिविल सर्वेसेज को लेकर बेतुका बयान दिया और युवाओं को गाय पालने की नसीहत तक दे दी है.

खबर है कि त्रिपुरा सीएम के इन बयानों से बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी खासे नाराज हैं. इन बयानों को लेकर पीएम ने उन्हें तलब किया है. बीजेपी के एक सीनियर लीडर ने बताया बिप्लब से कहा गया है कि 2 मई को वह दिल्ली में पीएम मोदी और बीजेपी चीफ अमित शाह से मिलें.

बीजेपी नेता ने कहा, "पार्टी के वरिष्ठ नेता देब के बयानों से पैदा हुए विवाद से नाराज हैं. देब कुछ भी बोलते जा रहे हैं. मोदी उनसे बात करेंगे."



देब ने पिछले महीने ही त्रिपुरा के सीएम पद की शपथ ली है. पिछले कुछ दिनों में उन्होंने कई ऐसे बयान दिये हैं जिनके चलते सोशल मीडिया पर बीजेपी को कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा है.
बिप्लब देब के बयान जिन पर हुआ विवादः
- 18 अप्रैल को बिप्लब देब ने कहा कि भारत के लिए इंटरनेट कोई नई चीज़ नहीं है. महाभारत काल से ही इसका इस्तेमाल किया जाता रहा है. उन्होंने कहा, 'धृतराष्ट्र कुरुक्षेत्र से इतनी दूर बैठे संजय से लगातार सारी जानकारी लेते थे. यह तकनीक और सैटेलाइट के माध्यम से ही संभव था.'

- 26 अप्रैल को बिप्लब देब ने 1997 में डायना हेडन को मिस वर्ल्ड बनाने पर सवाल उठाया था. उन्होंने कहा था, 'जिसने भी इंटरनेशनल ब्यूटी कॉन्टेस्ट में हिस्सा लिया, वो जीतकर लौटा. लगातार पांच सालों तक हमने मिस वर्ल्ड/मिस यूनिवर्स के ताज जीते. डायना हेडन भी जीत गईं. क्या आपको लगता है कि उन्हें ताज जीतना चाहिए था?' ऐश्वर्या राय की तारीफ करते हुए बिप्लब ने कहा था, 'ऐश्वर्या सच में भारतीय महिलाओं का प्रतिनिधित्व करती हैं. वह मिस वर्ल्ड बनीं, ठीक है लेकिन मुझे डायना हेडन की सुंदरता समझ में नहीं आती.'

- वहीं 28 अप्रैल को सिविल सर्विसेस से जुड़े एक कार्यक्रम में बिप्ल्ब ने कहा कि मैकेनिकल इंजीनयरों को सिविल सेवाओं में नहीं आना चाहिए. उन्होंने कहा कि इसके लिए सिविल इंजीनियरों को आना चाहिए क्योंकि उनके पास समाज निर्माण का पहले से ही अनुभव और ज्ञान होता है.

- 28 अप्रैल को ही अगरतला में विश्व पशु पालन दिवस पर एक कार्यक्रम में बिप्लब देब ने कहा, "युवा सरकारी नौकरी तलाश करने में अपना समय बर्बाद करने की बजाय अगर युवा पान की दुकान लगा लें या गाय ही पाल लेते, तो उनके बैंक खाते में अबतक 5 से 10 लाख रुपये जमा हो जाते."

(इनपुट भाषा से)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज