PM मोदी ने सांसदों को दिया 150 किलोमीटर पैदल चलने का फरमान

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सांसदों से कहा है कि वह पदयात्रा शुरू करेंगे, ताकि वह लोगों को गांधी के विचारों से रूबरू करा सकें.

News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 11:44 AM IST
PM मोदी ने सांसदों को दिया 150 किलोमीटर पैदल चलने का फरमान
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सांसदों से कहा है कि वह पदयात्रा शुरू करेंगे, ताकि वह लोगों को गांधी के विचारों से रूबरू करा सकें.
News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 11:44 AM IST
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हर दिन सांसदों को नए-नए टास्क दे रहे हैं. अब पीएम मोदी ने ने सांसदों से कहा है कि वो गांधी जयंती से पटेल जयंती तक यानि दो अक्टूबर से लेकर 31 अक्टूबर तक अपने संसदीय क्षेत्र में 150 किलोमीटर की पदयात्रा करेंगे. पदयात्रा के लिए अलग-अलग ग्रुप बनेंगे और सांसद हर दिन एक-एक ग्रुप के साथ पदयात्रा करेंगे. इस ग्रुप में बीजेपी विधायक और कार्यकर्ता शामिल होंगे. पदयात्रा के दिन लगभग 15 किलोमीटर का क्षेत्र कवर करना होगा.

क्या रहेगा काम?
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चाहते हैं कि सांसद बूथ लेवल तक जाकर कार्यकर्ताओं से मिलें, लोगों से मिलें. इस दौरान वह लोगों के गांधी जी, पटेल जी के विचारों को लोगों से साझा करें. सभी सांसद शिक्षा के प्रचार-प्रसार के साथ लोगों के हित में चलाई जाने वाली सरकारी योजनाओं की जानकारी भी देंगे. इससे सांसदों और लोगों के बीच भरोसा बढ़ेगा.

Pm Narendra modi
जिस बैठक में सांसदों की पदयात्रा से जुड़ा फैसला लिया गया, उसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी मौजूद रहे.


राज्यसभा सांसदों के क्षेत्र भी तय होंगे?
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तय किया है कि अक्टूबर महीने में पदयात्रा के लिए राज्यसभा सांसदों को भी कोई एक क्षेत्र दिया जाएगा. राज्यसभा सांसद भी लोगों के बीच जाकर उन्हें गांधी के विचारों के अवगत कराएंगे.

संसदीय बोर्ड की बैठक में फैसला
Loading...

पदयात्रा से जुड़ा फैसला भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली में हुई संसदीय बोर्ड की बैठक में लिया गया. इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी सहित कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे. इससे पहले भी 2 जुलाई को संसदीय दल की बैठक हुई थी जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद के दोनों सदनों के करीब 380 सांसदों के लिए काम का एजेंडा तय किया था. पदयात्रा के बारे में बताते हुए सांसद प्रह्लाद जोशी ने कहा कि हर संसदीय क्षेत्र में 15-20 टीमें तैयार होंगी, सांसद के साथ पदयात्रा के लिए जाएंगे. इस काम को देखने के लिए पार्टी स्तर पर एक कमेटी भी बनेगी.

ये भी पढ़ें- लोकसभा में अब राहुल गांधी को नहीं मिलेगी पहली लाइन में जगह, जानें वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 9, 2019, 11:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...