कोरोना वायरस से जंग में यूरोपीय संघ भारत के साथ, पीएम मोदी ने मांगी TRIPS में छूट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअल सम्मेलन में यूरोपीय परिषद की बैठक में भाग लिया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअल सम्मेलन में यूरोपीय परिषद की बैठक में भाग लिया.

भारत-यूरोपीय संघ के नेताओं की बैठक पर संयुक्त रूप से कहा कि हमने नोट किया कि आज की नेताओं की बैठक 2000 में पहले भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन के बाद से एक महत्वपूर्ण क्षण को दर्शाती है और हमारे लोगों के लिए एक बेहतर भविष्य की ओर हमारे संबंधों को मजबूत करती है.

  • Share this:

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शनिवार को यूरोपीय संघ की बैठक में वर्चुअल माध्यम से शिरकत की. पीएम मोदी इस बैठक में यूरोपीय संघ के अध्यक्ष चार्ल्स मिचेल के विशेष आमंत्रण पर शामिल हुए. इस बैठक में पीएम मोदी ने ईयू के नेताओं से विश्व स्वास्थय संगठन में वैक्सीन पर TRIPS में छूट देने की अपील की.

भारत-यूरोपीय संघ के नेताओं की वार्ता पर विदेश मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूरोपीय संघ को कोविड-19 रोधी टीकों पर पेटेंट छोड़ने के लिए भारत और दक्षिण अफ्रीका के प्रस्ताव का समर्थन करने के लिए आमंत्रित किया. भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन पर विदेश मंत्रालय ने कहा यह एक महत्वपूर्ण समय है, बैठक ने संबंधों को नयी गति दी है. मंत्रालय ने कहा कि यूरोपीय संघ और पुर्तगाल के नेतृत्व के साथ विचार विमर्श के बाद भारत-ईयू नेताओं की बैठक वर्चुअल तरीके से आठ मई को आयोजित करने का निर्णय लिया गया है.

भारत-यूरोपीय संघ के नेताओं की बैठक पर संयुक्त रूप से कहा कि हमने नोट किया कि आज की नेताओं की बैठक 2000 में पहले भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन के बाद से एक महत्वपूर्ण क्षण को दर्शाती है और हमारे लोगों के लिए एक बेहतर भविष्य की ओर हमारे संबंधों को मजबूत करती है. बैठक में कहा गया कि हम इस बात पर सहमत हुए कि दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतंत्र भारत और यूरोपीय संघ का बहु-ध्रुवीय दुनिया में सुरक्षा, समृद्धि और सतत विकास सुनिश्चित करने में एक समान रुचि है.

टीका उपलब्ध करवाने के लिए दिखाई एकजुटता
बैठक में यूरोपियन काउंसिल के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल ने कहा कि कोरोना महामारी आते ही पूरी दुनिया को टीका उपलब्ध करवाने के लिए यूरोपीय यूनियन ने फंड इकट्ठा करने में एकजुटता दिखाई. इसके अलावा COVAX में भी हमारी महत्वपूर्ण भूमिका रही, ताकी वैक्सीन दुनिया के हर देश तक पहुंच सके. मौजूदा वक्त में फैक्ट ये है कि हम टीके का निर्यात कर रहे हैं, इससे हमारी एकजुटता और आपसी भागीदारी दिखती है.

Youtube Video

इससे पहले विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि भारत-यूरोपीय संघ के नेताओं की यह बैठक यूरोपीय संघ के सदस्य देशों के सभी नेताओं के साथ चर्चा करने का एक अभूतपूर्व अवसर है. यह एक महत्वपूर्ण राजनीतिक मील का पत्थर है और जुलाई 2020 में हुए 15वें भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन के बाद से आपसी संबंधों में आयी तेजी को आगे और मजबूत करेगी.



कोरोना संकट के चलते पुर्तगाल नहीं जा सके पीएम मोदी

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री का भारत-यूरोपीय संघ शिखर बैठक में हिस्सा लेने के लिए पुर्तगाल जाने का कार्यक्रम था लेकिन देश में कोविड-19 के संक्रमण की दूसरी लहर के कारण उत्पन्न संकट को देखते हुए यह यात्रा स्थगित कर दी गई थी और दोनों पक्षों ने डिजिटल माध्यम से बैठक करने का निर्णय किया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज