Delhi Metro: पीएम मोदी ने पहली Driverless Metro को दिखाई हरी झंडी, बोले- 25 शहरों में मेट्रो चलाने का प्लान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली मेट्रो की 'मजेंटा लाइन' पर देश की पहली चालकरहित ट्रेन सेवा का उद्घाटन किया.

Delhi Metro News: पीएम मोदी (PM Modi) ने ड्राइवरलेस मेट्रो (Driverless Metro) को हरी झंडी दिखाते हुए कहा कि देश में 2025 तक करीब 25 शहरों में मेट्रो चलाने का प्लान है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को दिल्ली मेट्रो की 'मजेंटा लाइन' (Delhi Metro Driverless Train) पर देश की पहली चालकरहित ट्रेन (Driverless metro) सेवा का वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये उद्घाटन किया. इसके साथ ही उन्होंने ‘एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन’ पर 'नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड' (एनसीएमसी) सेवा की भी शुरुआत की. इस कार्यक्रम में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी शामिल हुए.

    पीएम मोदी ने ड्राइवरलेस मेट्रो (Driverless Metro) को हरी झंडी दिखाते हुए कहा कि देश में 2025 तक करीब 25 शहरों में मेट्रो चलाने का प्लान है. पीएम मोदी ने कहा कि आज से 3 साल पहले मेजेंटा लाइन की शुरुआत हुई थी, अब इसी लाइन पर ड्राइवरलेस मेट्रो की शुरुआत हो रही है.

    पीएम मोदी ने इसके साथ ही पिछली सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले देश में मेट्रो को लेकर कोई नीति नहीं थी, लेकिन हमने इसको लेकर तेजी से काम किया और शहरों के हिसाब से काम शुरू कर दिया. उन्होंने कहा, 'अटल जी के प्रयासों से दिल्ली को पहली मेट्रो मिली, जब हम सत्ता में आए तो सिर्फ 5 शहरों में मेट्रो थी अब 18 शहरों में मेट्रो है. 2025 तक 25 से अधिक शहरों में मेट्रो ट्रेन होगी.'



    प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के मुताबिक, ये इनोवेशन सफर को आसान बनाने के एक नए युग की शुरुआत करेंगे. पीएमओ के बयान में कहा गया है कि बिना ड्राइवर वाली मेट्रो ट्रेन पूरी तरह से एटोमैटिक होगी, जो किसी भी मानवीय गलती की संभावना को खत्म कर देगी.

    दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन (जनकपुरी पश्चिम-बॉटनिकल गार्डेन) पर ड्राइवरलेस ट्रेन (Driverless Metro Train) सेवा शुरू होने के बाद पिंक लाइन (मजलिस पार्क-शिव विहार) पर 2021 के मध्य में चालक रहित ट्रेन सेवा शुरू होने की उम्मीद है. मजेंटा लाइन पर जनकपुरी-बॉटेनिकल गॉर्डन कॉरिडोर पर 37 किलोमीटर के दायरे में इस सेवा की शुरुआत के साथ दिल्ली-एनसीआर के यात्री अत्याधुनिक सेवाओं का अपनी सहूलियत के लिए इस्तेमाल कर सकेंगे.

    वहीं एनसीएमसी को एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर पूरी तरह से संचालित किया जाएगा. इसके साथ ही, देश के किसी भी हिस्से से जारी रूपे-डेबिट कार्ड रखने वाला कोई भी व्यक्ति इसका उपयोग कर मार्ग पर यात्रा कर सकेगा. पीएमओ ने कहा कि यह सुविधा 2022 तक दिल्ली मेट्रो के पूरे नेटवर्क पर उपलब्ध हो जाएगी.

    तकनीक की दिशा में दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) के इस कदम से डीएमआरसी का नाम दुनिया के अग्रणी मेट्रो सेवा में शामिल हो जाएगा. जून 202 तक पिंक लाइन (मजलिस पार्क-शिव विहार) पर 57 किलोमीटर के दायरे में भी चालक रहित मेट्रो की शुरुआत की संभावना जताई है. अगले साल तक मेट्रो से यात्रा करने वाले लोगों को 94 किलोमीटर के दायरे में चालक रहित मेट्रो में सफर का मौका मिलेगा. यह पूरी दुनिया में ड्राइवरलेस मेट्रो नेटवर्क का करीब नौ फीसदी होगा. यह सेवा पूर्ण तौर पर स्वचालित होगी.

    मेट्रो की सभी लाइनों पर 2022 तक यात्रियों को कॉमन मोबिलिटी कार्ड से सफर का मौका मिल सकेगा. डीएमआरसी की ओर से वर्तमान में 390 किलोमीटर के दायरे में 11 कॉरिडोर (नोएडा-ग्रेटर नोएडा) के 285 स्टेशनों के बीच यात्रियों को मेट्रो सुविधा मुहैया की जा रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.