शपथ लेते एक्शन में मोदी, इस देश के राष्ट्रपति के साथ की अहम मीटिंग

News18Hindi
Updated: May 31, 2019, 12:55 PM IST

प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट करके बताया कि शपथ ग्रहण समारोह के बाद प्रधानमंत्री ने किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव के साथ व्यापक बातचीत की. जानिए, पीएम मोदी ने शपथ के बाद क्या-क्या किया.

  • Share this:
दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेते ही पीएम नरेंद्र मोदी ने काम भी शुरू कर दिया है. मोदी ने बृहस्पतिवार को किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव के साथ द्विपक्षीय मुद्दों पर बैठक की. मिली जानकारी के मुताबिक इस बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा की गई.

किर्गिस्तान के राष्ट्रपति जीनबेकाव पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए आए थे. प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट करके बताया कि शपथ ग्रहण समारोह के बाद प्रधानमंत्री ने किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव के साथ बिना समय गंवाए बातचीत की गई. दोनों नेताओं ने दोनों देशों के नागरिकों के पारस्परिक हित के लिए सहयोग में विविधता लाने पर विचार-विमर्श किया.

शपथ ग्रहण के ठीक बाद हुई मीटिंग

इससे पहले नरेंद्र मोदी और उनकी मंत्रिपरिषद के सदस्यों ने ऐतिहासिक राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में बृहस्पतिवार की शाम शपथ ली. इस मौके पर करीब आठ हजार मौजूद रहे. इस भव्य समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देश के पीएम मोदी समेत 58 नए मंत्रियों को पद की शपथ दिलाई.

इस शपथ ग्रहण समारोह के दौरान कई राष्ट्राध्यक्षों और शासनाध्यक्षों के साथ ही, उद्योग जगत के लोग, विपक्ष के नेता, भाजपा के सदस्य और सिने-सितारे भी मौजूद थे. अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रपति भवन में आयोजित यह समारोह अब तक का सबसे बड़ा कार्यक्रम था और शपथ ग्रहण समारोह करीब दो घंटे तक चला.

शपथ ग्रहण समारोह ठीक समय पर शाम सात बजे शुरू हुआ. लेकिन लोग काफी पहले ही आने लगे थे और अपनी आवंटित सीटों पर बैठने लगे थे. लाखों लोग इस समारोह को टीवी तथा अन्य माध्यमों से देख रहे थे. एक के बाद एक मंत्रियों के शपथ लेने के साथ ही शाम रात्रि में बदल गयी और खूबसूरत राष्ट्रपति भवन रंगीन रौशनियों से जगमगा उठा.


Loading...

इस मौके पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल, वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी और आध्यात्मिक गुरू जग्गी वासुदेव भी मौजूद थे. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी मां और संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ समारोह में आए. आम चुनाव के नतीजे आने के बाद वह कुछ दिनों तक नहीं दिखे थे.

यह भी पढ़ेंः यहां क्लिक करके जानें किसे कैबिनेट मंत्री और किसे राज्यमंत्री का मिला दर्जा?

राजग सहयोगी जद-यू के प्रमुख नीतीश कुमार भी समारोह में शामिल हुए. हालांकि कुछ समय पहले ही उनकी पार्टी ने घोषणा की थी कि वह सरकार में शामिल नहीं होगी.

दुनिया के कई नेता भी हुए शामिल

‘‘बंगाल की खाड़ी बहु-क्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग उपक्रम’’ :बिम्सटेक: देशों के नेता भी समारोह में शामिल हुए. इनमें बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हामिद, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना, नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली, भूटान के प्रधानमंत्री लोतेय त्शेरिंग भी शामिल हुए.

किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव और मारिशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ भी समारोह में शामिल हुए. उद्योग जगत की ओर से रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के मुकेश अंबानी, दिग्गज उद्योगपति रतन टाटा, स्टील कारोबारी एलएन मित्तल और अदानी समूह के प्रमुख गौतम अदानी भी उपस्थित थे.

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास, एस्सार के निदेशक प्रशांत रुइया, टाटा समूह के अध्यक्ष एन चंद्रशेखरन, वेदांता के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल और एचडीएफसी के दीपक पारेख भी मौजूद थे.

यह भी पढ़ेंः देश और दुनिया की दस बड़ी खबरें जो आज आपको जाननी चाहिए

सिने स्टार रजनीकांत, फिल्म निर्माता करण जौहर, शाहिद कपूर, बोनी कपूर और कंगना रनौत के साथ फिल्म और टेलीविजन प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के अध्यक्ष सिद्धार्थ रॉय कपूर, विवेक ओबेरॉय, अनुपम खेर, मधुर भंडारकर और बोनी कपूर भी कार्यक्रम में शामिल हुए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 31, 2019, 7:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...