अपना शहर चुनें

States

गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने आए कलाकारों से बोले PM-'हम सबकी मंजिल एक श्रेष्ठ भारत बनाना है'

पीएम ने कलाकारों से कहा, जब वे राजपथ पर मार्च करते हैं तो पूरा देश खुशी और गर्व से भर जाता है.
पीएम ने कलाकारों से कहा, जब वे राजपथ पर मार्च करते हैं तो पूरा देश खुशी और गर्व से भर जाता है.

Republic Day Parade 2021: पीएम मोदी (Narendra Modi) ने कहा कि कोरोना ने बहुत कुछ बदल कर रख दिया है. मास्क और दो गज की दूरी अब ऐसा लग रहा है कि रोजमर्रा की चीज बन गए हैं. लेकिन इन सब के बावजूद लोगों को उत्साह और उमंग में कोई कमी नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 10:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. गणतंत्र दिवस परेड 2021 (Republic Day Parade 2021) में शामिल होने दिल्ली आए कलाकारों, एनसीसी कैडेटों और एनएसएस वॉलंटियर्स से पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने रविवार को मुलाकात की. कलाकारों से मुलाकात के बाद पीएम मोदी ने उनसे कहा कि जब वे राजपथ पर मार्च करते हैं तो पूरा देश खुशी और गर्व से भर जाता है. पीएम ने कहा, भारत सिर्फ किसी के कहने भर से आत्मनिर्भर नहीं बन जाएगा, युवाओं के कार्यों से यह हासिल होगा.

पीएम मोदी (Narendra Modi) ने कहा कि कोरोना ने बहुत कुछ बदल कर रख दिया है. मास्क और दो गज की दूरी अब ऐसा लग रहा है कि रोजमर्रा की चीज बन गए हैं. लेकिन इन सब के बावजूद लोगों को उत्साह और उमंग में कोई कमी नहीं है.





हमारा देश विविधताओं से भरा हुआ है
पीएम मोगी मे कहा, इस वर्ष हमारा देश अपनी आजादी के 75वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है. इस वर्ष गुरु तेग बहादुर जी का 400वां प्रकाश पर्व भी है. इसी वर्ष हम नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जन्मजयंती भी बना रहे हैं. अब देश ने यह तय किया है कि नेताजी के जन्म दिवस को हम पराक्रम दिवस के रूप में मनाएंगे. गणतंत्र दिवस की तैयारियों के दौरान आपने भी महसूस किया होगा कि हमारा देश कितनी विविधताओं से भरा है. अनेकों भाषाएं, अनेकों बोलियां, अलग-अलग खान-पान कितना कुछ अलग है, लेकिन भारत एक है.



ये भी पढ़ेंः- असम में बोले अमित शाह- राज्य में घुसपैठिये कांग्रेस और बदरुद्दीन अजमल के वोटबैंक पर रोक लगाएगी बीजेपी

पीएम ने दिया वोकल फॉर लोकल का संदेश
कलाकारों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, अपने घर के आसपास जो चीजें बन रही हैं, उसपर मान करना, उसे प्रोत्साहित करना ही वोकल फॉर लोकल है. वोकल फॉर लोकल की भावना तब मजबूत होगी जब इसे एक भारत-श्रेष्ठ भारत की भावना से शक्ति मिलेगी. देश में भारत के हर राज्य के रहन-सहन, तीज-त्यौहार के बारे में जागरूकता और बढ़े. विशेषतौर पर हमारी समृद्ध आदिवासी परंपराओं, आर्ट और क्राफ्ट से देश बहुत कुछ सीख सकता है. इन सब को आगे बढ़ाने में 'एक भारत-श्रेष्ठ भारत' अभियान बहुत मदद कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज