पीएम मोदी ने बांटा संपत्ति कार्ड, कहा- कई लोग नहीं चाहते कि गरीब, किसान और मजदूर 'आत्मनिर्भर' बनें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामित्व योजना की शुरुआत कर दी है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामित्व योजना की शुरुआत कर दी है.

सरकार की इस पहल से ग्रामीणों को अपनी जमीन और संपत्ति को एक वित्तीय संपत्ति के तौर पर इस्तेमाल करने की सुविधा मिलेगी, जिसके एवज में वह बैंकों से कर्ज और दूसरा वित्तीय फायदा उठा सकेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 1:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्वामित्व योजना की शुरुआत की. प्रधानमंत्री मोदी ने इस योजना के तहत करीब एक लाख लोगों को प्रॉपर्टी कार्ड वितरित किया. वहीं कांग्रेस सहित विपक्षी पार्टियों पर ग्रामीणों और गरीबी की अनदेखी का आरोप लगाया. पीएम मोदी ने इस दौरान कहा, 'लंबे समय तक सत्ता में रहे लोगों ने गांवों को उनके हाल पर छोड़ दिया था, मैं ऐसा नहीं कर सकता. सरकार ने छह साल में ग्रामीणों के लिए इतना काम किया है जितना इससे पहले के छह दशकों में नहीं हुआ.'

प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, 'कई लोग नहीं चाहते कि ग्रामीण, गरीब, किसान और मजदूर 'आत्मनिर्भर' बनें.' कृषि, श्रम संबंधी और अन्य सुधारों के विरोध का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बिचौलियों के जरिये राजनीति करने वाले लोग झूठ फैला रहे हैं, देश अब रुकेगा नहीं.

स्वामित्व कार्ड को प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने ग्रामीण भारत में बदलाव लाने वाली ऐतिहासिक पहल बताया है. सरकार की इस पहल से ग्रामीणों को अपनी जमीन और संपत्ति को एक वित्तीय संपत्ति के तौर पर इस्तेमाल करने की सुविधा मिलेगी, जिसके एवज में वह बैंकों से कर्ज और दूसरा वित्तीय फायदा उठा सकेंगे.



पीएम मोदी ने इस योजना की शुरुआत की. बता दें​ कि पंचायतीराज मंत्रालय के तहत शुरू हो रही इस योजना से 6 राज्यों के 763 पंचायतों के सवा लाख लोग लाभान्वित हो रहे हैं. इस कार्यक्रम की शुरुआत से करीब एक लाख संपत्ति मालिक अपनी संपत्ति से जुड़े कार्ड अपने मोबाइल फोन पर एसएमएस लिंक के जरिये डाउनलोड कर सकेंगे. इसके बाद संबंधित राज्य सरकारों द्वारा संपत्ति कार्ड का भौतिक वितरण किया जाएगा.
बता दें कि जिन लोगों को इस योजना का लाभ मिला है, उनमें हरियाणा के 221, महाराष्ट्र के 100, उत्तर प्रदेश के 346, मध्य प्रदेश के 44 और उत्तराखंड के 50 और कर्नाटक की दो पंचायतें शामिल हैं.

-- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वामित्व योजना की शुरुआत के साथ ही एक साथ एक लाख प्रॉपर्टी मालिकों को एक एसएमएस गया. इस लिंग पर क्लिक करते ही प्रॉपर्टी कार्ड डाउनलोड हो जाएगा.

--  इस योजना का लाभ ये है कि इसकी मदद से प्रॉपर्टी की सुरक्षा मिल जाएगी. इसके जरिए प्रॉपर्टी मालिक को लोन भी मुहैया कराया जा सकेगा.

-- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूणे के विश्वनाथ से बात की और उन्होंने बताया कि कैसे ड्रोन की मदद से हमने अपने गांव को देखा. स्वामित्व की योजना का सबसे अच्छा लाभ ये है कि जमीन की सही नपाई हो सकी.

-- प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज की शाम बहुत खुशी की शाम है. आज आपको जो अधिकार मिला है उसके लिए आप सभी को बधाई. पीएम मोदी ने कहा कि आपका घर आपका है. उसपर अब सरकार भी कोई दखल नहीं कर सकेगी. अब आप अपने घर का निर्णय खुद ले सकेंगे.

-- प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आज का दिन बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि आज के दिन दो महापुरुषों को जन्म दिन है. जयप्रकाश नारायण और नानाजी देशमुख ने भ्रष्टाचार के खिलाफ काफी लड़ाई लड़ी. उन्होंने कहा कि स्वामित्व योजना गांव में जमीन के विवाद केा खत्म करने में मदद करेगी.

-- प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, जब संपत्ति का रिकॉर्ड होता है तो बैंक से कर्ज आसानी से मिलता, रोजगार स्वरोजगार के रास्ते खुलते हैं. आज मुश्किल ये है कि पूरी दुनिया में केवल एक तिहाई लोगों के पास ही संपत्ति का सही रिकॉर्ड है.

-- प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, स्वामित्व योजना में मिलने वाला प्रॉपर्टी कार्ड बिना किसी विवाद के जमीन खरीदने और बेचने का रास्ता खोलता है. अब किसी भी जमीन पर कोई कब्जा नहीं कर सकेगा.

-- देश के युवा आत्मविश्वास के साथ आत्मनिर्भर बनना चाहते हैं लेकिन उन्हें कोई कर्ज नहीं मिल पाता था. लेकिन अब उन्हें हक के साथ युवाओं को कर्ज मिल सकेगा और वह बैंकों को कागज दिखाकर कर्ज ले सकेंगे.

-- पीएम मोदी ने कहा, पंचायती राज को मजबूत करने का प्रयास चल रहा है. स्वामित्व योजना उन्हें और मजबूत करेगी. पीएम मोदी ने कहा जब संपत्ति का रिकॉर्ड होता है, जब संपत्ति पर अधिकार मिलता है तो नागरिकों में आत्मविश्वास बढ़ता है. जब संपत्ति का रिकॉर्ड होता है तो निवेश के लिए नए रास्ते खुलते हैं.

-- पीएम मोदी ने कहा, गांव में शौचालय, बिजली, बैंकिंग व्यवस्था और चूल्हे की दिक्कत थी. पहले की सरकारों ने गांवों को उनके नसीब पर छोड़ दिया लेकिन हमारी सरकार ऐसा नहीं करेगी. हम कुछ ऐसा करना चाहते हैं कि गांव के लोगों को किसी पर निर्भर न होना पड़े.

-- पीएम मोदी ने कहा, स्वामित्व योजना की ताकत टेक्नोलॉजी है. ड्रोन की मदद से गांव की मैपिंग हो रही है. पिछले 6 सालों में जो काम गांवों में हुआ वह पिछले 6 दशक में नहीं हुआ.

-- पीएम मोदी ने कहा, जल जीवन मिशन के तहत 15 करोड़ घरों तक पानी पहुंचाने का काम किया जा रहा है. कुछ लोगों का काम गांवों को गरीब रखना उनका राजनीति का आधार रहा है. उन्हें लगता था कि अगर गांव सशक्त हो गए तो उन्हें कौन पूछेगा.

-- पीएम मोदी ने कहा, देश को लूटने में लगे लोगों को अब देश पहचानने लगा है. किसानों को मिल रही बीमा, पेंशन और अनाज आसानी से मिलने से कई लोगों को दिक्कत हो रही है. लेकिन किसान अब ऐसे लोगों को पहचान चुका है.

-- प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, कोरोना काल में मास्क पहने, हाथ बार बार धोएं. आप भी बीमार न पड़ें और आपका परिवार भी बीमार नहीं पड़ना चाहिए. पीएम मोदी ने फिर कोरोना का मंत्र याद दिलाया और कहा कि जब तब दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज