पीएम मोदी का कश्मीरी नेताओं संग 'महामंथन', कांग्रेस ने रखी ये 5 बड़ी मांगें

पीएम मोदी के साथ बैठक के बाद गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जम्मू कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा जल्द वापस मिलें.

PM Modi all party meet on Jammu Kashmir: कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद (Congress leader Ghulam Nabi Azad) ने चर्चा के दौरान कहा कि जिस तरह से स्टेट डिजॉल्व हुआ, वो नहीं होना चाहिए था. चुने हुए प्रतिनिधियों से पूछे बगैर ये किया गया.

  • Share this:
    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ जम्मू-कश्मीर के नेताओं संग बैठक (PM Modi Meeting With Jammu Kashmir Leader) समाप्त हो गई है. पीएम मोदी के साथ जम्मू-कश्मीर के नेताओं की बैठक करीब 4 घंटे चली. इस बैठक में जम्मू-कश्मीर के 14 नेताओं ने पीएम के साथ सर्वदलीय बैठक में अपनी बात रखी. बैठक में नेशनल कॉन्फ्रेंस के संरक्षक फारूक अब्दुल्ला, पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती और पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद मौजूद थे.

    इस बैठक में कांग्रेस की ओर से पीएम मोदी के सामने 5 मांगें रखी गईं. कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद (Congress leader Ghulam Nabi Azad) ने कहा कि हमने चर्चा के दौरान बताया कि जिस तरह से स्टेट डिजॉल्व हुआ वो नहीं होना चाहिए था. चुने गए प्रतिनिधियों से पूछे बगैर ये किया गया. लेकिन सभी चीजें कहने के बाद हमने पांच बड़ी मांगें सरकार के सामने रखी हैं.



    आइए जानते हैं कांग्रेस की 5 बड़ी मांगें...

    1. कश्मीरी पंडितों को जम्मू-कश्मीर में वापस लाएं और उनके पुर्नवास में मदद करें.

    2. राज्य को पूर्ण राज्य का दर्जा जल्द वापस मिले.

    3. जम्मू-कश्मीर में जल्द से जल्द विधानसभा चुनाव कराए जाएं.

    4. रोजगार को लेकर डोमिसाइल के दशकों से चले आ रहे नियम बने रहें.

    5. पार्टी ने राजनीति से जुड़े हुए जो लोग (पॉलिटिक प्रिजनर्स) बंद हैं उन्हें छोड़ने की मांग की.

    साथ ही कांग्रेस की तरफ से इस बात पर जोर दिया गया कि केंद्र अब घाटी के नौजवानों को रोजगार की गारंटी दे. आजाद ने बताया कि पहले तो कश्मीरी युवक के पास नौकरी की गारंटी रहती थी, लेकिन अभी ऐसा नहीं है.

    ऐसे में अब जो भी कानून लाया जाएगा, उसमें ये आश्वासन जरूर रहना चाहिए कश्मीरी युवक को रोजगार की गारंटी रहे. ऐसा ही स्टैंड कांग्रेस की तरफ से कश्मीर में जमीन को लेकर भी लिया गया है.

    क्या बोले पीएम मोदी
    बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा- जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ आज की बैठक राज्य के विकास के प्रयासों में एक अहम पड़ाव है. हमारे लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत यही है कि हम एक टेबल पर साथ बैठकर विचारों का आदान-प्रदान कर सकते हैं. मैंने जम्मू-कश्मीर के नेताओं से कहा कि राज्य के युवाओं को ही लीडरशिप तैयार करनी होगी. और उन्हें ये तय करना होगा कि सभी की आकांक्षाएं पूरी हों. हमारी प्राथमिकता है कि जम्मू-कश्मीर में जमीन पर लोकतंत्र मजबूत हो. परिसीमन तेज रफ्तार से करना होगा. इसके बाद राज्य को एक चुनी हुई सरकार मिले जो विकास के लक्ष्यों को पूरा करे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.