कोरोना के खिलाफ जंग में उतरेंगे सेना के रिटायर्ड डॉक्टर, पीएम मोदी से मिले CDS बिपिन रावत

कोरोना से निपटने की तैयारियों पर पीएम मोदी से मिले सीडीएस बिपिन रावत

कोरोना से निपटने की तैयारियों पर पीएम मोदी से मिले सीडीएस बिपिन रावत

PM Modi Meets General Rawat: चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत ने कहा कि सशस्त्र बलों से पिछले दो साल में सेवानिवृत्त हुए सभी मेडिकल कर्मचारी अपने घरों के पास स्थित कोविड-19 केन्द्रों में काम करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 6:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) से निपटने के लिए सशस्त्र बलों की तैयारियों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत के साथ सोमवार को चर्चा की. बैठक के बाद बिपिन रावत ने कहा कि सशस्त्र बलों से पिछले दो साल में सेवानिवृत्त हुए सभी मेडिकल कर्मचारी अपने घरों के पास स्थित कोविड-19 केन्द्रों में काम करेंगे. इसके साथ ही कमांड, कोर, डिविजन और नौसेना तथा वायुसेना के समान मुख्यालयों में तैनात सभी मेडिकल अफसर अस्पतालों में तैनात किए जाएंगे. उन्होंने बताया कि अस्पतालों में डॉक्टरों की मदद के लिए बड़ी संख्या में नर्सिंग स्टाफ को तैनात किया जा रहा है और सशस्त्र बलों के विभिन्न प्रतिष्ठानों के पास उपलब्ध ऑक्सीजन सिलेंडर अस्पतालों को दिए जाएंगे.

इसके अलावा सशस्त्र बल बड़ी संख्या में मेडिकल प्रतिष्ठान तैयार कर रहे हैं, जहां भी संभव होगा, सेना की मेडिकल सुविधाएं आम लोगों को उपलब्ध करायी जाएंगी. रावत के साथ मुलाकात के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश-विदेश से ऑक्सीजन और अन्य आवश्यक सामग्री की भारतीय वायुसेना द्वारा परिवहन की तैयारियों की भी समीक्षा की.

Youtube Video


युद्धस्तर पर चल रहा टीकाकरण अभियान
बता दें कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर चल रही है और इसके मुकाबले के लिए युद्धस्तर पर टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है. देश में अब तक कोविड-19 टीके की कुल 14.19 करोड़ खुराकें दी जा चुकी हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 25 अप्रैल को अभियान का 100वां दिन पूरा हो गया. रिपोर्ट के मुताबिक 20,44,954 सत्रों के माध्यम से कुल मिलाकार टीकों की 14,19,11,223 खुराकें दी जा चुकी हैं.

इनमें 92,98, 092 स्वास्थ्य कर्मी शामिल हैं जिन्हें पहली खुराक दी गई और 60,08,236 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई. इसके अलावा अग्रिम मोर्चे के 1,19,87,192 कर्मियों को पहली और 63,10,273 कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई है. इसके अलावा 60 वर्ष से अधिक आयु के 4,98,72,309 लोगों को पहली और 79,23,295 लोगों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है जबकि 45 से 60 वर्ष के आयुवर्ग के 4,81,08,293 को टीके की पहली खुराक और 24,03,633 लाभार्थियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है.

58.7 प्रतिशत टीकाकरण इन राज्यों में



मंत्रालय ने कहा कि देश में अब तक दिए गए कुल टीकों में से 58.7 प्रतिशत टीके महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और केरल में हैं. पिछले 24 घंटों में टीके की करीब 10 लाख खुराकें दी गई हैं. टीकाकरण अभियान के 100वें दिन (25 अप्रैल को) 9,95,288 खुराकें दी गईं. कुल 11,984 सत्रों के जरिए 6,85,944 लाभार्थियों को पहली खुराक और 3,09,344 लाभार्थियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई.



मंत्रालय ने यह भी बताया कि नये मामलों में से 70 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, गुजरात और राजस्थान में हैं. पिछले 24 घंटों में रिकॉर्ड 3,52,991 मामले सामने आए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज