Home /News /nation /

pm modi meets thomas cup winning indian badminton team welcomes them at his residence in delhi

थॉमस कप विजेता टीम से मिले PM मोदी, बोले- आपने देश का बड़ा सपना पूरा किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने थॉमस कप और उबर कप विजेता भारतीय बैडमिंटन टीम से मुलाकात की. (Screengrab)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने थॉमस कप और उबर कप विजेता भारतीय बैडमिंटन टीम से मुलाकात की. (Screengrab)

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर इस मुलाकात के बारे में जानकारी दी. उन्होंने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'हमारे बैडमिंटन चैंपियनों के साथ बातचीत की, जिन्होंने थॉमस कप और उबर कप के अपने अनुभव साझा किए. खिलाड़ियों ने अपने खेल के विभिन्न पहलुओं, बैडमिंटन से परे जीवन और बहुत कुछ के बारे में बात की. भारत को उनकी उपलब्धियों पर गर्व है.'

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आवास ‘7 लोक कल्याण मार्ग’ पर थॉमस कप और उबर कप के बैडमिंटन चैंपियंस से मुलाकात की. इस दौरान खिलाड़ियों ने पीएम के साथ अपने अनुभव साझा किए. थॉमस कप जीतने वाले भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों से पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘मैं देश की ओर से पूरी टीम को बधाई देता हूं. यह कोई छोटी उपलब्धि नहीं है.’ पीएम कहा कि किसी भी टूर्नामेंट में कोई भी निर्णायक मैच सांस खींच लेने वाला होता है. इसपर खिलाड़ियों ने कहा कि मैच चाहे पहला हो या अंतिम हमने हमेशा देश की जीत दिखी.

    पीएम मोदी ने कहा, ‘एक समय था जब हमारी टीम थॉमस खिताब जीतने की लिस्ट में काफी पीछे हुआ करती थी. भारतीयों ने कभी इस खिताब का नाम भी नहीं सुना होगा, लेकिन आज आपने इसे देश में लोकप्रिय कर दिया है. इस भारतीय टीम ने यह जज्बा जगाया है कि मेहनत की जाए, तो कुछ भी हासिल किया जा सकता है. दबाव होना ठीक है, लेकिन उसमें गलत है. आपने दबाव से निकलकर इतिहास रचा है.’ मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने किदांबी श्रीकांत,सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी, चिराग शेट्टी, लक्ष्य सेन और एचएस प्रणॉय से बात की, उनका हौसला अफजाई  किया और उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं.

    मेरे पीएम ने मुझे कभी नहीं बुलाया: माथियास
    किदांबी श्रीकांत ने कहा कि एथलीटों को यह कहते हुए हमेशा गर्व होगा कि हमें अपने प्रधानमंत्री का समर्थन प्राप्त है. भारतीय बैडमिंटन टीम के चीफ कोच पुलेला गोपीचंद ने कहा कि पीएम खिलाड़ियों और खेल का अनुसरण करते हैं, और उनके विचार खिलाड़ियों से जुड़ते हैं. भारतीय डबल्स टीम के कोच माथियास बो ने कहा, ‘मैं एक खिलाड़ी रहा हूं और मैंने देश के लिए पदक जीते हैं. लेकिन मेरे प्रधानमंत्री ने मुझे कभी मिलने के लिए नहीं बुलाया.’ आपको बता दें कि माथियास डेनमार्क के इंटरनेशनल बैडमिंटन प्लेयर रहे हैं.

    लक्ष्य सेन ने प्रधानमंत्री मोदी को मिठाई खिलाई
    प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज लक्ष्य सेन ने अपना वादा पूरा किया है. उन्होंने फोन पर कहा था कि मिठाई खिलाऊंगा. आज वह मेरे लिए मिठाई लेकर आए हैं. लक्ष्य ने बताया कि टूर्नामेंट के दौरान उनको फूड पॉइजनिंग हो गई थी. इस वजह से वह 3 मैच नहीं खेल पाए थे. लक्ष्य सेन ने कहा कि पीएम ने अल्मोड़ा की बाल मिठाई मांगी थी. मैं उनके लिए मिठाई लेकर गया था. यह दिल को छू लेने वाला है कि उन्हें खिलाड़ियों की छोटी-छोटी बातें याद रहती हैं.

    भारत ने पहली बार जीता थॉमस कप
    आपको बता दें कि भारत ने कुछ दिन पहले ही थॉमस कप के फाइनल मुकाबले में 14 बार की चैंपियन इंडोनेशिया को हराकर पहली बार यह खिताब अपने नाम किया था. भारतीय टीम पहली बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची थी.भारत को थॉमस कप जिताने में कप्तान किदांबी श्रीकांत, चिराग-सात्विक की जोड़ी और युवा शटलर लक्ष्य सेन का रहा.  इसके अलावा एचएस प्रणॉय ने भी मुश्किल समय में चोटिल होने के बावजूद जीत हासिल की और देश को चैंपियन बनाया था. उबर कप में भारतीय टीम मेजबान थाइलैंड से क्वार्टर फाइनल में हारकर बाहर हो गई थी.

    इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर इस मुलाकात के बारे में जानकारी दी. उन्होंने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा, ‘हमारे बैडमिंटन चैंपियनों के साथ बातचीत की, जिन्होंने थॉमस कप और उबर कप के अपने अनुभव साझा किए. खिलाड़ियों ने अपने खेल के विभिन्न पहलुओं, बैडमिंटन से परे जीवन और बहुत कुछ के बारे में बात की. भारत को उनकी उपलब्धियों पर गर्व है.’ पीएम ने भारतीय बैडमिंटन टीम के कप्तान किदांबी श्रीकांत से उनके अनुभव पूछे और इतने बड़े टूर्नामेंट में खिलाड़ियों को मोटिवेट करने और खिताबी जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए उनकी तारीफ की.

    Tags: PM Modi, Thomas Cup

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर