लाइव टीवी

कौन हैं सिस्टर मरियम, जिनका 'मन की बात' में पीएम मोदी ने किया जिक्र

News18Hindi
Updated: September 29, 2019, 2:49 PM IST
कौन हैं सिस्टर मरियम, जिनका 'मन की बात' में पीएम मोदी ने किया जिक्र
सिस्टर मरियम थ्रेसिया की प्रतिमा.

केरल (Kerala) के धार्मिक लोग सिस्टर मरियम (Sister Mariam Thresia) को उनके सामाजिक कामों के लिए याद करते हैं और बताते हैं कि वो गरीब या दीन हीन तबके के लिए बेहद संवेदनशील थीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2019, 2:49 PM IST
  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज (29 सितंबर) मन की बात' (Mann Ki Baat) कार्यक्रम द्वारा समस्त देशवासियों को संबोधित किया. आज के इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने सिस्टर मरियम थ्रेसिया का जिक्र किया, और उनकी तारीफ की. सिस्टर मरियम थ्रेसिया (Sister Mariam Thresia) भारत की महिला संत बनने वाली हैं.

13 अक्टूबर को मिलेगी उन्हें संत की उपाधि
'मन की बात' में पीएम ने सिस्टर मरियम के कार्यों का उल्लेख किया है. पोप फ्रांसिस ने वेटिकन सिटी में ये फैसला लिया है कि वह आगामी 13 अक्टूबर को होने वाले उपाधि सम्मेलन में भारत में नन रहीं सिस्टर मरियम थ्रेसिया को संत की उपाधि औपचारिक तौर पर देंगे. केरल में सामाजिक उत्थान के कामों के लिए जीवन समर्पित करने वाली सिस्टर मरियम को क्यों मदर टेरेसा की तरह माना जाता है और कौन थीं सिस्टर मरियम? इन सवालों के जवाब में एक दिलचस्प कहानी जानें.


Loading...

मदर टेरेसा के साथ उनमें कई समानताएं भी रहीं हैं
संत की उपाधि देने की घोषणा से पहले 1999 में सिस्टर मरियम को सम्माननीय एवं पूज्यनीय घोषित किया गया था और साल 2000 में उन्हें धन्य आत्मा भी कहा गया था. ये दोनों ही घोषणाएं पोप जॉन पॉल द्वितीय ने की थीं. केरल में जन्मीं सिस्टर मरियम को मृत्युपरांत संत घोषित किया जाएगा और यही एक बात है जो उन्हें मदर टेरेसा से अलग करती है. मदर टेरेसा के साथ उनमें कई समानताएं भी रहीं.

26 अप्रैल 1876 को केरल के त्रिशूर जिले में हुआ था उनका जन्म
केरल के धार्मिक लोग सिस्टर मरियम को उनके सामाजिक कामों के लिए याद करते हैं और बताते हैं कि वो गरीब या दीन हीन तबके के लिए बेहद संवेदनशील थीं. इस दयाभाव के कारण उनकी तुलना मदर टेरेसा के साथ अक्सर की जाती है. 26 अप्रैल 1876 को केरल के त्रिशूर जिले में जन्मीं सिस्टर मरियम 50 साल की उम्र में 8 जून 1926 को दुनिया छोड़ गई थीं लेकिन उनके किए काम आज भी याद किए जाते हैं और उनकी बनाई संस्था आज भी चल रही है.

ये भी पढ़ें-

मन की बात: PM मोदी ने की अपील- इस दिवाली बेटियों के सम्मान में रखें कार्यक्रम
PM मोदी ने लता मंगेशकर को दी जन्‍मदिन की बधाई, बोले, अबकी बार आऊंगा, गुजराती डिश खाऊंगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 29, 2019, 12:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...