Home /News /nation /

चाईनीज सामान और दियों के बहिष्कार की मिसाल बनेगा पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र

चाईनीज सामान और दियों के बहिष्कार की मिसाल बनेगा पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र


फोटो साभारः ट्विटर

फोटो साभारः ट्विटर

खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने वाराणसी में आत्मनिर्भर भारत अभियान (Atmanirbhar Bharat Abhiyan) के तहत इन समुदायों को मिट्टी के दीयों, देवी/देवताओं की मूर्तियों और मिट्टी के अन्य बर्तनों को बनाने का प्रशिक्षण दे रहा है.

नई दिल्ली/वाराणसी. पीएम मोदी (PM Modi) के संसदीय क्षेत्र, वाराणसी (Varanasi) में मिट्टी के बर्तन बनाने वाले समुदाय (कुम्हार) दीपावली (Diwali) समेत आने वाले त्योहार के मौसम में "सिर्फ स्वदेशी" उत्पादों के साथ देश में एक नई मिसाल बनाने के लिए तैयार हैं. खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने वाराणसी में आत्मनिर्भर भारत अभियान (Atmanirbhar Bharat Abhiyan) के तहत इन समुदायों को मिट्टी के दीयों, देवी/देवताओं की मूर्तियों और मिट्टी के अन्य बर्तनों को बनाने का प्रशिक्षण दे रहा है.

केवीआईसी ने चार गांवों - इटहराडीह, अहरौराडीह, अर्जुनपुर और चक सहजंगीगंज के मिट्टी के बर्तन बनाने वाले समुदायों से जुड़े 80 परिवारों को बिजली से चलने वाले पहिए (पॉटर व्हील) बांटे. इनमें से हरेक गांव में लगभग 150 से 200 कुछ ऐसे परिवार रहते हैं जो कई पीढ़ियों से मिट्टी के बर्तन बना रहे हैं. हालांकि, हाथ से संचालित किए जाने वाले चाकों की पुरानी तकनीकों, हाथों-औजारों से मिट्टी तैयार करने और बाजार/मांग की कमी के कारण ये लोग अपना पुश्तैनी काम छोड़ कर दूसरे विकल्प तलाशने के लिए मजबूर थे.

3 महीनों में 1500 बिजली चलने वाले पहिए बांटने का टारगेट
केवीआईसी ने अगले 3 महीनों के दौरान वाराणसी में 1500 बिजली से चलने वाले पहियों (पॉटर व्हील) बांटने का टारगेट रखा है. इस कार्यक्रम का उद्देश्य प्रवासी श्रमिकों के लिए स्थानीय रोज़गार का निर्माण करना है ताकि उन्हें आजीविका की तलाश में अन्य शहरों में जाने की आवश्यकता न पड़े.

ये लोग बनाएंगे पारंपरिक दीपक
वाराणसी के इन गांवों में ये समुदाय विशेष रूप से दशहरा और दीपावली के आगामी त्योहारों को ध्यान में रखते हुए मिट्टी के मैजिक लैंप, पारंपरिक दीपक (दीया) और लक्ष्मी और गणेश की मूर्तियां बना रहे हैं.
एक मकसद ये भी है कि दीपावली और दूसरे त्योहारों के मौसम में लोग चीनी लाइट और अन्य सामान के बजाए लोकल और स्वदेशी सामान खरीदें. चाईनाज लड़ी और चाईनीज दियों की बजाए स्वदेशी दियों से घरों को जगमगाएं.

Tags: Chinese companies, Narendra modi, PM Modi, Varanasi news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर